SDM की फर्जी आईडी, SDM की पत्नी को फ्रेंड लिस्ट में, दोस्तों से ठगी | MP NEWS

Advertisement

SDM की फर्जी आईडी, SDM की पत्नी को फ्रेंड लिस्ट में, दोस्तों से ठगी | MP NEWS

छतरपुर। बड़ामलहरा में पदस्थ एसडीएम राजीव समाधिया इन दिनों तनाव मे है। तनाव का कारण है एक साइबर अपराधी जिसने उनके नाम की ना केवल फर्जी फेसबुक आईडी बना ली है बल्कि उनके दोस्तों से चैट करके ठगी भी कर रहा है। इतना ही नहीं एसडीएम की पत्नी भी उनकी फर्जी आईडी में फ्रेंड के बतौर दर्ज हैं। साइबर सेल मामले की जांच कर रही है। 

एसडीएम ने बताया कि उनका एक करीबी जालसाज के झांसे में आ गया और आरोपी के बैंक खाते में नेट बैंकिंग के जरिए 50 हजार रुपए ट्रांसफर कर दिए। संबंधित दोस्त ने जब उन्हें फोन पर रुपए खाते में डाले जाने की जानकारी दी तो एसडीएम चौंक गए। उन्होंने तत्काल इसकी शिकायत साइबर सेल की शाखा छतरपुर में दर्ज कराई। साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक फ्रेंड्स, जान-पहचान वालों व जन साधारण से सावधान रहने की अपील की है।

दोस्त का फोन आया तब जाकर पता चला

एसडीएम ने बताया कि रविवार सुबह साढ़े 9 बजे उनके जबलपुर में एडीपीओ दोस्त रवि त्रिवेदी का फोन आया। उन्होंने फोन कर पूछा कि तुम कहां हो, उन्होंने बताया- मैं बड़ामलहरा में हूं। रवि त्रिवेदी ने बताया कि तुम्हारी फोटो व तुम्हारे नाम पर कोई फेसबुक एकाउंट बनाकर मैसेंजर पर चैट कर रहा है। परेशानी का हवाला देकर दिल्ली में होने की बात कहकर मदद के नाम पर नेट बैंकिंग के जरिए रुपए की मांग कर रहा है। यह पता चलते ही एसडीएम ने तत्काल अपने फेसबुक पर पोस्ट डालकर सूचित किया कि उनके नाम से चैटिंग कर जो रुपयों की मांग कर रहा है तो वह फर्जी है। अगर कोई ऐसी चैटिंग करता है तो इसकी जानकारी उन्हें दें। 

कई सारे दोस्तों से पैसे मांगे

एसडीएम ने जैसे ही इस संबंध में पोस्ट डाली तो उनके मित्रों ने मैसेज कर बताया कि आरोपी पहले फ्रेंड्स रिक्वेस्ट भेजता है। फिर परेशानी का हवाला देकर बैंक खाता नंबर देकर नेट बैंकिंग से रुपए ट्रांसफर करने को कहता है, वह इतना शातिर है कि जो मित्र नेट बैंकिंग यूज नहीं करता, उससे चैंटिंग नहीं करता। वह किसी से 50 हजार, किसी से 40 और किसी से 30 हजार रुपए की मांग करता है। आरोपी ने अपनी इस नई आईडी में 80 मित्र बना लिए हैं। आरोपी ने उनकी पत्नी को भी अपना फेसबुक मित्र बना लिया है। एसडीएम ने इसकी जानकारी एसडीओपी राजाराम साहू को दी, उन्होंने सायबर सेल शाखा छतरपुर के एक्सपर्ट आरक्षक किशोर कुमार को एसडीएम के पास भेजा। एसडीएम ने एक्सपर्ट को शिकायती आवेदन सौंपा।