LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




सोराइसिस से बचना है तो धूम्रपान से रहिए दूर | HEALTHY TIPS OF PSORIASIS

17 April 2019

नई दिल्ली। भारत में करीब चार से पांच फीसदी लोग सोराइसिस (Psoriasis) से पीड़ित हैं. हेल्थ एक्सपर्ट (Health Expert) का मानना है कि सोराइसिस का कोई एक कारण नहीं है, लेकिन यदि आपके परिवार के किसी सदस्य को सोराइसिस है, तो आपको भी इसका खतरा हो सकता है. हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि धूम्रपान (Smoking) से सोराइसिस का खतरा दोगुना हो जाता है निकोटिन के चलते स्किन की निचली परत में रक्त संचार बाधित हो जाता है और स्किन में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है. सोराइसिस पर हुए एक सर्वे के अनुसार, दुनिया में 12.5 करोड़ लोग इस रोग से पीड़ित हैं. 

इंडियन एसोसिएशन ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट वेनेरीयोलॉजिस्ट्स लेप्रोलॉजिस्ट्स (IADVL) इंडिया के राष्ट्रीय संयोजक डॉ. अबीर सारस्वत ने कहा, "निकोटिन खून को स्किन की निचली परत में जाने से रोकता है, इसलिए स्किन को कम ऑक्सीजन मिलता है. इससे कोशिका उत्पादन की गुणवत्ता प्रभावित होती है, जिससे सोराइसिस जैसे रोग होते हैं."

सोराइसिस के लक्षण / Symptoms of psoriasis

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, "सोराइसिस में त्वचा लाल हो जाती है और सफेद दाग उभर आते हैं. यह बीमारी सिर, कोहनी, घुटने और पेट की त्वचा पर होती है. स्किन बायोप्सी या स्क्रैपिंग से इसका पता लगाया जा सकता है. सोराइसिस की स्थिति और शरीर के कितने हिस्से पर इसका प्रभाव है, इसे देखते हुए कई प्रकार के उपचार उपलब्ध हैं.

सोरायसिस के कारण / Due to psoriasis

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, तनाव से सोराइसिस नहीं होता है, लेकिन स्थिति गंभीर हो सकती है. जबकि, सोराइसिस से तनाव हो सकता है. स्टडी में पाया गया कि मोटापे और सोराइसिस के बीच गहरा संबंध है. ज्यादा वजन वाले लोगों की त्वचा में पसीने से घाव होने से सोराइसिस हो सकता है. वहीं, जिन्हें पहले से सोराइसिस है, उनकी त्वचा कटने या छिलने से स्थिति बिगड़ सकती है.

हेल्थ एक्सपर्ट का कहना यह भी है कि सोराइसिस का पूर्ण उपचार नहीं है, लेकिन जीवनशैली में बदलाव करने और प्रभावी उपचार लेने से रोगी की स्थिति में सुधार हो सकता है. यद्यपि गट्टाेट सोरायसिस अक्सर युवा उम्र और बचपन में शुरू होते हैं, इनवर्क्स सोरायसिस चमकदार लाल घावों की विशेषता है, जो त्वचा के तलहटो पर दिखाई देते हैं। हालांकि एरिथ्रोडार्मिक सोरायसिस समय-समय पर होता है 

अक्सर प्रणालीगत सोरायसिस उपचार के छोड़ने, सनबर्न और किसी दवा से होने वाले संक्रमण के कारण बढ़ सकता है। ट्रामा, भावनात्मक तनाव और स्ट्रेप्टोकोकल संक्रमण जैसे समस्याएं भी सोरायसिस के कारण हो सकता है। इस बीमारी के हालिया अध्ययन से संकेत मिलता है कि प्रतिरक्षा प्रणाली में कुछ असामान्यता कारक है, जो इस बीमारी को ट्रिगर करती है। हाल के दिनों में 80% लोगों ने बताया है की ट्रामा, प्रियजन की मौत या नौकरी की कमी के कारण सोरायसिस में बढ़ोतरी हुई है। डॉक्टरों का मानना है कि बाहरी तनाव एक प्रमुख भूमिका निभाती है और रोगी की प्रतिरक्षा प्रणाली में वंशगत जन्मजात दोष के लिए ट्रिगर के रूप में कार्य करता है। त्वचा पर चोट और कुछ तरह की दवा इस बीमारी को बढ़ा सकती है, जिसमें विशेष प्रकार के ब्लड प्रेशर गोलियां (बीटा ब्लॉकर्स), इबुप्रोफेन दवाएं और एंटी-मलेरिया दवाएं भी शामिल हैं। 

सोरायसिस के लिए घरेलू उपचार / Home remedies for psoriasis

इस बीमारी के लिए घरेलू उपचार के रूप में, एक मोटी क्रीम या लोशन लगा कर पेट्रोलियम जेली या जैतून का तेल जैसे मलहम के साथ नमी को बना कर रखने से इस बीमारी को कम करने में मदद करता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि शुष्क त्वचा खुजली और जलन को और गंभीर बना देती है। हालांकि, गर्मियों के महीनों के दौरान बहुत मोटी क्रीम का उपयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि क्रीम के साथ मिश्रित पसीना अक्सर सोरायसिस को और भी खराब बनाता है।

सोरायसिस के लिए एक अन्य घरेलु उपाय बिस्तर पर जाने से पहले अपनी त्वचा को प्लास्टिक या पट्टी से लपेटना है और सुबह में ठंडे पानी के साथ धीरे-धीरे क्षेत्रों को धोना है। यह समय के साथ स्केलिंग को कम कर सकता है। सोरायसिस आमतौर पर पारिवारिक बीमारी के रूप में चलता है, लेकिन फिर भी यह पीढ़ियों में छोड़ सकता है। परिवार का बुजुर्ग सदस्य अपने इस बीमारी को अपने पोते या परपोते को पास कर सकते हैं, लेकिन उनका बेटा कभी भी इस बीमारी को विकसित नहीं कर सकता है। यद्यपि सोरायसिस शर्मनाक और तनावपूर्ण हो सकता है, लेकिन इस बीमारी के अधिकांश प्रकोप अन्य त्वचा की तुलना में तुलनात्मक रूप से हानिरहित हैं। उचित उपचार के साथ इस बीमारी से कुछ महीनों में ही लक्षण काम होने लग जाते हैं



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->