Loading...

मुस्लिम छात्रा का आरोप: BJP की टोपी नहीं पहनी तो प्रताड़ित किया गया | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। मेरठ उत्तरप्रदेश की एक मुस्लिम कॉलेज छात्रा का ट्वीट अब देश भर में वायरल हो रहा है। लोकसभा चुनाव के बीच आए इस ट्वीट ने भाजपा के विरोधियों का हमला करने का मौका दे दिया है। 22 साल की छात्रा ने आरोप लगाया है कि एक कॉलेज ट्रिप के दौरान चलती बस में 2 छात्रों ने 'जो नशे में थे, उसे भाजपा की टोपी पहनाने की कोशिश की और कुछ स्लोगन व नारे बोलकर उसे आहत किया। छात्रा ने यह भी आरोप लगाया कि बस में फैक्ल्टी मौजूद थे परंतु उन्होंने इस घटना को इग्नोर किया। जबकि फैक्ल्टी का कहना है कि उन्हे नहीं पता यह सबकुछ कब हुआ। छात्रा ने उनसे ना तो कोई शिकायत की और ना ही मदद मांगी। 

चलती बस में सब हुआ, पुरुष फैकल्टी ने सब इग्नोर किया

घटना का जिक्र करते हुए पीड़िता ने ट्वीट किया, '2 अप्रैल को मैं कॉलेज ट्रिप पर आगरा गई थी। मैं 55 छात्रों में एकमात्र मुस्लिम छात्रा थी। हमारे साथ 4 फैकल्टी मेंबर भी थे, जिसमें 2 पुरुष थे.... शराब पीने के बाद छात्रों ने घटिया हरकतें शुरू कर दी और उन्होंने मुझे टारगेट बनाया।' उसने ट्विटर पर लिखा, 'वह कुछ सामान लेकर आए थे जैसे बीजेपी की टोपियां वगैरह और उन्होंने मुझे इससे पहनने के लिए दबाव बनाया जब मैंने इनकार कर दिया तो उन्होंने मुझसे बदतमीजी शुरू कर दी... उन्होंने गलत तरीके से मुझे छूना शुरू किया और यह सब कुछ बस में घटित हो रहा था जिसमें दो पुरुष फैकल्टी सदस्य भी मौजूद थे, लेकिन उन्होंने यह सब इग्नोर किया।' 

कॉलेज प्रशासन ने दोनों छात्रों को किया निष्कासित 

कॉलेज प्रशासन ने लिखित शिकायत के आधार पर दोनों छात्रों को निष्कासित कर दिया। कॉलेज के डायरेक्टर एसएम शर्मा ने बताया, 'ट्रिप पर 4 वरिष्ठ लेक्चरर भी मौजूद थे। उन्होंने घटना के बारे में रिपोर्ट नहीं किया। पीड़िता ने लिखित शिकायत के साथ हमसे संपर्क किया जिसके बाद हमने कार्रवाई करते हुए छात्रों को निष्कासित कर दिया। अब यह मामला आंतरिक शिकायत समिति को भेजा जाएगा जो इसकी जांच करेगी।' 

शिकायत के बाद क्या हुआ

युवती ने इस पूरे मसले पर कहा, 'मैं वही कहूंगी जो मैंने ट्वीट किया। हालांकि मैं इस पर बात नहीं करना चाहूंगी क्योंकि कॉलेज प्रशासन मामले को देख रहा है और मुझे उम्मीद है कि यह अच्छे से होगा। मेरे साथ जो हुआ जो मैं उसके लिए लड़ रही हूं।' छात्रा ने बस में मौजूद फैकल्टी मेंबर पर भी मामले पर कुछ न बोलने का आरोप लगाया। उसने बताया, 'बस में मौजूद फैकल्टी मेंबर ने मामले में दखल नहीं दिया। अब वे मुझसे पूछ रहे हैं कि मैंने उनसे संपर्क क्यों नहीं किया।' 

ट्वीट तेजी से वायरल, शशि थरूर ने केंद्र पर कसा तंज 

उसने बताया, 'मैं अपनी सुरक्षा और आश्वासन की जरूरत है कि अब वे लड़के मुझे कॉलेज के अंदर या बाहर नुकसान न पहुंचाए। मैंने कॉलेज से इस बारे में बात की लेकिन उन्होंने अभी मुझे आश्वासन नहीं दिया। इसके अलावा, उन दोनों छात्रों को निष्कासित करने के बारे में मुझे सूचित नहीं किया गया।' छात्रा का ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा, 'अगर यह मोदी का न्यू इंडिया है तो मैं हमारा ओल्ड इंडिया वापस चाहता हूं।' 

राजनीति में रुचि रखती है छात्रा

छात्रा की ट्वीटर प्रोफाइल देखने के बाद यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि शिकायतकर्ता छात्रा राजनीति में काफी रुचि रखती है एवं मुस्लिम समाज की राजनीति में अपना स्थान बनाने की कोशिश कर रही है। वो कई ऐसे संगठनों को भी पसंद करती है जो केवल मुसलमानों के लिए काम करते हैं।