Loading...

मप्र आंधी-बारिश: 11 जिलों में भारी तबाही, 10 मौतों की पुष्टि, सैंकड़ों हादसे | MP WEATHER REPORT

भाेपाल। मंगलवार रात 9 बजे के आसपास आसमान से कहर बरसा। तेज आंधी के साथ बारिश हुई। आसमान से गिरते पानी की पिटाई से काफी नुक्सान हुआ। प्रदेश के 11 जिलों में सबसे ज्यादा नुक्सान की रिपोर्ट आ रहीं हैं। किसानों की फसलें बर्बाद हो गईं। हालात यह थे कि सड़क पर चल रहे वाहन आपस में टकरा गए। अब तक 10 मौतों की पुष्टि हो चुकी है। हजारों घरों की छतें और आसान उड़ गया, हजारों जानवर लापता हैं। 

कहां क्या हुआ

दो दिन से प्रदेश में मौसम के मिजाज बदले हुए हैं। मंगलवार रात 9 बजे के बाद भोपाल में आधा घंटा तेज बारिश हुई। एक घंटा थमने के बाद बारिश फिर शुरू हो गई, जो देर रात तक जारी रही। मौसम विभाग ने 9:30 बजे तक 9.7 मिमी बारिश दर्ज की। शाजापुर, उज्जैन, जबलपुर, राजगढ़, ग्वालियर में भी आंधी के साथ बारिश होने के समाचार हैं। शाजापुर में 20 मिनट तक ओले। कई जगह समर्थन मूल्य पर खरीदा गया गेंहूं भीग गया। प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई। राजधानी में दिन के तापमान में 5.70 की गिरावट आई और तापमान 34.10 पर ठहर गया। यह सामान्य से 4.80 कम था। जबकि, रात का तापमान 3.40 की गिरावट के साथ 23.90 रहा।

इसलिए मप्र में बारिश...

पश्चिमी राजस्थान के ऊपर करीब 1.5 किमी की ऊंचाई पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। यहीं नहीं, पश्चिमी राजस्थान से महाराष्ट्र तक करीब 0.9 किमी की ऊंचाई पर एक ट्रफ लाइन बनी है, जाे पश्चिमी मध्यप्रदेश से हाेकर गुजर रही है। इससे मिल रही नमी के कारण बारिश की स्थिति बनी और इंदाैर, देवास, शाजापुर, सीहाेर, राजगढ़, गुना और विदिशा में आंधी के बाद गरज-चमक के साथ ही बारिश भी हुई।

पचमढ़ी से भी ठंडा ग्वालियर...

ग्वालियर में दिन का तापमान 11.5 डिग्री की गिरावट के साथ 30.1 डिग्री रिकाॅर्ड हुआ। यह पचमढ़ी के तापमान 33 डिग्री के मुकाबले तीन डिग्री कम था।  

माैसम आज : 

प्रदेश में दो दिन आंधी के साथ बारिश, भोपाल में बूंदाबांदी का अनुमान माैसम वैज्ञानिकाें की मानें ताे अगले दाे दिनाें में उत्तर-पश्चिमी और पूर्वी मप्र में आंधी के साथ ही हल्की बारिश की स्थिति बन सकती है। भोपाल में बूंदाबांदी हो सकती है।

कहां कितनी हुई बारिश 

भोपाल 9.7 मिमी 
शाजापुर 8 मिमी 
उज्जैन 5 मिमी 
जबलपुर 3 मिमी