Loading...

पंचायत सचिवों के परिजनों से अनुग्रह राशि नहीं वसूली जाएगी: मुख्यमंत्री कमल नाथ | MP NEWS

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि पंचायत सचिव सरकार की वह पहली कड़ी है, जहाँ से उसकी सफलता सुनिश्चित होती है। पंचायत सचिव अपने स्तर पर सरकार के कामकाज का फीडबैक दें ताकि बेहतर व्यवस्थाएँ स्थापित की जा सकें। मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिवों की मृत्यु के बाद उन्हें दी जाने वाली अनुग्रह राशि उनके परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति मिलने पर वेतन से काटने के आदेश को तत्काल वापस लेने के निर्देश दिये । श्री नाथ आज हर्षवर्धन नगर में मध्यप्रदेश जनपद मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं पंचायत सचिव संगठन के अभिनंदन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि पिछले सत्तर दिनों में सरकार ने लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं के अनुरुप शासन व्यवस्था बनाने में अपनी नीति और नीयत स्पष्ट कर दी है। उन्होंने कहा कि विरासत में हमें एक बदहाल मध्यप्रदेश मिला था। उसे संवारने के लिये हम दिन-रात काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिवों से कहा कि उन पर सरकार की छवि निखारने की बड़ी जिम्मेदारी है। वह अपने दायित्वों का पूरी लगन और मेहनत के साथ निर्वहन करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सरकार पंचायत सचिवों की क्षमता और जिम्मेदारी का सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि हमने बेहतरी के जो भी वादे वचन-पत्र में किये हैं, उसे पूरा करने के लिये हम प्रतिबद्ध हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिये संगठन को आंदोलन नहीं करना पड़ेगा, यह मैं उन्हें विश्वास दिलाता हूँ।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिवों के लिये वचन-पत्र में किये वादे प्राथमिकता के साथ पूरा करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की बेहतरी के लिये जो योजनाएँ सरकार बनाती हैं, उन्हें सफलतापूर्वक लागू करने की पहली कड़ी पंचायत सचिव हैं। इसलिये आपका साथ सरकार के लिये जरूरी है।

जनसम्पर्क एवं विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ वचन-पत्र के वादों को एक-एक करके पूरा कर रहे हैं। आने वाले पाँच साल में हम सब के सामने एक नया मध्यप्रदेश सामने होगा।

मध्यप्रदेश जनपद मुख्य कार्यपालन अधिकारी संघ के अध्यक्ष श्री भूपेश गुप्ता ने कहा कि पंचायत सचिवों के संगठन के सुझाव मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने वचन-पत्र में शामिल किये। हम सब मिलकर मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप मध्यप्रदेश के नव-निर्माण का एक नया इतिहास रचेंगे।

कार्यक्रम को पंचायत सचिव संगठन के अध्यक्ष श्री दिनेश शर्मा ने भी संबोधित किया। शुरू में दोनों पंचायत संगठन की ओर से मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री को स्मृति-चिन्ह के रूप में गदा भेंट की गई।