Loading...

संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल का ऐलान, अपील जारी | MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल। आगामी 23 फरवरी तक संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों (SAMVIDA SWASTHYA KARMCHARI) की मांगें नहीं मानने और 90 प्रतिशत वेतन संबंधी आदेश जारी नहीं किए जाने, वचन पत्र के अनुसार नियमितीकरण नहीं करने, निष्कासित कर्मचारियों की बहाली नहीं करने पर 25 से 27 फरवरी तक 3 दिवसीय हड़ताल की जाएगी। पहले दिन मंत्रियों और विधायकों का घेराव किया जाएगा। दूसरे दिन आक्रोश रैली निकाली जाएगी। 

सौरभ सिंह चौहान, प्रांताध्यक्ष, संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ मप्र ने अपील जारी करते हुए कहा है कि वक़्त कम है सिर्फ 2 कार्यदिवस शेष हैं इसलिए सबकुछ छोड़कर सिर्फ हड़ताल की युद्ध स्तर तैयारियां करें जिसमें सभी जिला अध्यक्ष/सचिव/सक्रिय सदस्य 3 दिवसीय हड़ताल की सूचना अपने सीएमएचओ/बीएमओ/सिविलसर्जन/अधिकारी को निर्धारित प्रारूप में कल शुक्रवार दिनांक 22 फरवरी को देना सुनिश्चित करें।

2.कल दिनांक 22 फरवरी से ही ट्विटर वार के लिए आवश्यक मेसेज और लिंक आप सबको भेजी जाएगी को ट्वीट, शेयर और रीट्वीट करना है। 22 और 23 को हुए इस ट्विटर का इस्तेमाल और प्रभाव भी हमें देखने को मिलेगा।
3.दिनांक 24 फरवरी 2019 को सभी जिले अपने अपने जिलों में बैठक कर 25 से की जाने वाली हड़ताल की तैयारी बैठक करेंगे और मीडिया/जिला स्तरीय प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करना है।

4.हमने जितनी भी हड़तालें की वो सब पुरानी सरकार से कीं, अब सरकार बदल।चुकी है अगर ये सोचकर हमने कम सक्रियता दिखाई कि इतनी हड़ताल कर।चुके कुछ नही होता तो ये बात जेहन में बिठा लें कि नई सरकार को।अगर इस हड़ताल का प्रभावी रूप।देखने को नही मिला तो।अगले 5 साल सरकार संविदा को हल्के में लेगी और बाकी एनएचएम के बारे में बताने की जरूरत शायद नही है।

जो लोग इंक्रीमेंट और 90% को लेकर अलग अलग विचार रखते हैं उनके लिए भी एक मैसेज यही।है कि आपके केआरए,रिव्यू,डेट ऑफ जोइनिंग,विसंगतिपूर्ण वेतन का एक मात्र इलाज स्थायी समाधान सिर्फ 90% है।
आज इस विषय में भी एनएचएम ने पत्र जारी कर स्पष्ट कर दिया कि 00000 वालों के लिए ही सिर्फ वो सोच रहे 65 से कम का नही।

इसलिये बाकी सब पर बहस करना बेकार है आपके चाहे 00 नम्बर हों,65 से कम हों केआरए न भरा हो या 100 में 100 नम्बर हों सभी का वेतन 90% के बाद रिवाइज होकर पूरे प्रदेश की समस्या का एक साथ समाधान हो जाएगा।
इसलिये 90% नियमित और निष्कासित बहाली के एजेण्डे पर 25 से हड़ताल के लिए तैयार हो जाइये।