Advertisement

लड़की और भय्यू महाराज के बीच खुलकर अश्लील बातें होतीं थीं: पुलिस का दावा | INDORE MP NEWS


इंदौर। पुलिस ने दावा किया है कि भय्यू महाराज सुसाइड केस में जिस लड़की के इर्दगिर्द कहानी आकर रुक गई है वो लड़की और भय्यू महाराज आपस में खुलकर अश्लील बातें करते थे। इससे पहले लड़की ने कहा था कि भय्यू महाराज उसे अपनी बेटी मानते थे इसलिए भय्यू महाराज की सगी बेटी उससे चिड़ती थी। बता दें कि भय्यू महाराज ने 2 शादियां कीं थीं। दूसरी लवमैरिज थी। 

लड़की के मोबाइल में Aaa Ho के नाम से दर्ज था भय्यू महाराज का नंबर
पुलिस ने बताया कि लड़की के मोबाइल का डिलीट डेटा को वापस लिया गया तो पता चला कि भय्यू महाराज के घर पर कब्जा जमाने वाली संदेही युवती ने महाराज के नंबर 'आ हो' (आमतौर पर पति के संबोधन के लिए इस्तेमाल) नाम से सेव कर रखे थे। इस बात के सबूत भी मिले कि दोनों खुलकर अश्लील बातें करते थे। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के मुताबिक पुलिस रिपोर्ट तैयार करने की स्थिति में पहुंच गई है। प्रारंभिक जांच में यह स्पष्ट हो चुका है कि महाराज और संदेही युवती में अंतरंग संबंध बन चुके थे। 

लड़की विनायक से पूछती थी 'भाई अपन प्लान में सफल हो पाएंगे कि नही'
जांच टीम में शामिल अफसर के मुताबिक युवती और विनायक भी एक-दूसरे को मैसेज करते थे जिसमें युवती ने कई बार पूछा कि 'भाई अपन प्लान में सफल हो पाएंगे कि नही'। इस पर विनायक युवती को प्लान सक्सेस होने का विश्वास दिलाता था। इस जानकारी के बाद मंगलवार को अचानक एक टीम महाराज के घर 'शिवनेरी' पहुंची और पत्नी आयुषी, सेवादार पीडी उर्फ प्रवीण देशमुख और बहन रेणु, मोनू से पूछताछ की। पुलिस ने महाराज के सात मोबाइल भी बरामद कर लिए। इनसे डेटा डिलीट हो चुका है, जिसे पुलिस रिकवर कराएगी।

जहर पीने की दी थी धमकी
महाराज की छोटी बहन मोनू उर्फ अनुराधा (52) ने विनायक और युवती पर धमकाने का आरोप लगाया है। मोनू ने कहा कि आत्महत्या के पीछे युवती, विनायक, शरद देशमुख और शेखर पंडित का हाथ है। युवती ने पूरे घर में कब्जा जमा लिया था। वह नौकरों पर ऐसे हुक्म चलाती थी जैसे महाराज की पत्नी हो। जब महाराज आयुषी से शादी कर रहे थे तो विनायक ने युवती को घर बुला लिया। बड़ी बहन रेणु आयुषी को ज्वेलरी और कपड़े देने निकल गई थी। जैसे ही मौका मिला, विनायक युवती को बेडरूम में लेकर आ गया। उसने महाराज को धमकाया कि उससे शादी नहीं की तो वह जहर पी लेगी। तब परिजन ने उसे धक्का देकर बाहर निकाला था।

परिवार से दूर करन चाहते थे
मोनू के मुताबिक विनायक महाराज को अकेला देखते ही युवती को फोन कर देता था। उन पर दबाव बनाकर बात करवाता था। शेखर और विनायक महाराज को परिवार से भी दूर करना चाहते थे। विनायक युवती को घर की मालकिन बनाने का षड्यंत्र रच रहा था। मैंने पुलिस को भी पूरी जानकारी दे दी है। मोनू की मांग की है दोषियों पर कार्रवाई होना चाहिए। पुलिस केस को दबाने की कोशिश कर रही है।