Loading...

मप्र में बेरोजगारों के लिए रोजगार गारंटी योजना: सीएम कमलनाथ का मास्टर स्ट्रोक

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बेरोजगारी से जूझ रहे मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले मास्टर स्ट्रोक मारा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर छिंदवाड़ा में मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मनरेगा के जैसी योजना का ऐलान किया है। यह योजना शहरी युवाओं के लिए है। इस योजना के तहत साल में कम से कम 100 दिन रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना को 'युवा स्वाभिमान योजना' नाम दिया गया है। 

गणतंत्र दिवस पर नागरिकों के नाम अपने संदेश में नई योजना की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि युवा शक्ति के हाथ में प्रदेश का भविष्य है। उन्होंने कहा कि युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है। जरूरत केवल युवा प्रतिभाओं को निखारने की है ताकि वे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकें।

पंजीयन 10 फरवरी से होगा प्रारंभ
श्री कमल नाथ ने कहा कि रोजगार के दौरान युवाओं को उनके पसंद के क्षेत्र में कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उनके हाथ में कौशल होगा, तो वे विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि योजना में 10 फरवरी से युवाओं का पंजीयन प्रारंभ होगा और फरवरी माह में ही रोजगार और कौशल देने का काम शुरू हो जायेगा।