लीजिए, पानी के बाद शुद्ध हवा भी बोलत बंद खरीदिए, प्रदूषण से पैदा हुआ MARKET | BUSINESS NEWS



नई दिल्ली। प्रदूषण ने एक नया बाजार पैदा कर दिया है। दशक भर पहले जब पीने का पानी बोतल में बंद होकर आया था तो इसे लेकर काफी बातें हुईं थीं क्योंकि भारतीय संस्कृति में पेयजल उपलब्ध कराना धर्म का काम था, व्यवसाय कदापि नहीं था। अब प्रदूषण के कारण शुद्ध हवा का बाजार पैदा हो गया है। बोतलों में शुद्ध हवा भरकर बेची जाने लगी है। यदि पर्यावरण पर ध्यान नहीं दिया तो एक दशक बाद इस देश में प्रदूषण माफियाओं की नई जमात नजर आएगी जो अपनी बोतलबंद शुद्ध हवा को बेचने के लिए देश को प्रदूषित किया करेंगे। 

फिलहाल भारत मं इंटरनेट पर ताजी हवा की ऑनलाइन बिक्री शुरू हो गई है। आप चाहें तो हिमालय से लेकर कनाडा और ऑस्ट्रेलिया तक की ताजी हवा बंद बोतल में मंगवा सकते हैं। गुजरात राज्य के अहमदाबाद की एक कंपनी ने हवा का कारोबार शुरू किया है। यह 550 रुपये में आपको एक बोतल ताजी हवा देगी। इस हवा भरी बोतल से आप करीब 160 बार सांस ले सकेंगे।

यह कंपनी अपनी वेबसाइट पर उत्तराखंड की हवा बेच रही है। कहा जा रहा है कि उत्तराखंड के हिमालयी इलाकों से हवा को कंप्रेस कर खास किस्म की पैकिंग में भरा गया है। डिब्बे पर दर्ज जानकारी में कंपनी दावा करती है कि हवा उत्तराखंड के चमोली जिले के रूपकुंड और बागेश्वर जिले से लगते पिंडारी क्षेत्र से डिब्बाबंद की गई है। कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर कोई स्थायी पता या फोन नंबर नहीं दिया है। केवल ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से ही इसकी डिलिवरी दे रही है।

चीन में बिकतीं हैं आॅक्सीजन के बोतल

शुद्ध हवा बेचने का यह कारोबार चीन में खूब चलता है। चीन से लेकर पश्चिम के कई देशों में इस तरह की शुद्ध हवा की काफी मांग है। ऑनलाइन ऑर्डर कर आप दक्षिण प्रशांत महासागर से लेकर कनाडा और अलास्का के पहाड़ों की तक शुद्ध हवा का लाभ उठा सकते हैं। वहीं कनाडा की कंपनी वाइटलिटी एयर (VITALITY AIR) भी भारत में बोतल में हवा बंद करके बेच रही है।