LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




शिवराज की VIDISHA में बिजली गुल, किसानों ने चक्काजाम किया | MP NEWS

22 November 2018

भोपाल। विदिशा जिले में अब शिवराज का राज है। यह शिवराज सिंह का गढ़ है। यहां शिवराज की मर्जी के बिना पत्ता भी नहीं हिलता। भाजपा के सारे दिग्गज नेता या तो लाइनअटैच कर दिए गए हैं या फिर पार्टी से बाहर। इन दिनों चुनाव चल रहे हैं। शिवराज सिंह ने यहां से अपने राइट हेंड मुकेश टंडन को मैदान में उतारा है परंतु किसान परेशान हैं। रबी फसल सिंचाई के लिए बिजली नहीं मिल रही है। गुस्साए ग्रामीणों ने जय स्तंभ चौक पर ढाई घंटे तक नारेबाजी की ओर चक्का जाम किया। 

किसानों का कहना है कि शासन के निर्देश है किसानों को फसल सिंचाई के लिए 10 घंटे बिजली दी जाए लेकिन उनको चार घंटे भी बिजली नहीं मिल रही। इससे फसलों की सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। फसलें सूखने की स्थिति में आ रही है। बिजली सप्लाई नहीं मिलने की शिकायत लगातार बिजली कंपनी के कर्मचारियों से की जा रही है लेकिन कोई नहीं सुन रहा है। इस कारण उनको चक्काजाम करने मजबूर होना पड़ रहा है। वह तब तक नहीं हटेंगे। उनको बिजली सप्लाई का रास्ता साफ नहीं होगा। किसानों ने बारिश के अभाव में खेतों का पलेवा कर और कुछ ने सूखे खेतों में बीज डालकर सिंचाई की थी लेकिन अब फसलें पानी मांग रही हैं। इसके चलते किसान परेशान हैं। किसानों ने तहसीलदार परिहार को ज्ञापन सौंपा। 

12 गांव से किसान आए थे

दो तीन घंटे भी बिजली नहीं मिलने की शिकायत लेकर करीब 12 गांव के करीब 150 किसान आए थे। उनमें डाबर, जोंसी, जसिया, बसरिया, करोंदा, रतनखेड़ी, डफरयाई, गजनई, पड़ई बरखेड़ा के किसान बड़ी संख्या में आए थे। इन किसानों का आरोप है कि उनको 2-3 घंटे भी बिजली नहीं मिल रही है। बिजली के इंतजार में ठंड के दिनों में भी दिन और रात भर खेतों पर गुजार रहे हैं लेकिन सप्लाई नहीं मिल रही है। कभी आती भी है तो एक या दो फेज आते हैं। उनमें भी वोल्टेज नहीं मिलता। इससे खेतों की सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। 

इससे पहले सिरोटा में ग्रामीणों ने जताई थी नाराजगी: 

इसी बात को लेकर सिरोटा गांव में किसानों ने सब स्टेशन पर हंगामा किया था। बिजली कर्मचारियों को सब स्टेशन से बाहर कर ताला डाल दिया था। वहां भी किसान बिजली न मिलने से गुस्साए थे। जय स्तंभ चौक पर प्रदर्शन कर रहे निरंजनसिंह, सौरभ रघुवंशी, तोरनसिंह, सौरभ दुबे का आरोप था कि सब स्टेशन के कर्मचारी सेटिंग के तहत बिजली दे रहे हैं। उनके हिस्से की बिजली दूसरे फीडर को दे रहे हैं। इससे बिल जमा करने के बाद भी बिजली नहीं मिल रही है। 



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->