पीएस डॉ. मनोज गोविल हंसी का पात्र बन गए, गुजरात को लिखी चिट्ठी सुर्खियों में | Dr. Manoj Govil, IAS

Advertisement

पीएस डॉ. मनोज गोविल हंसी का पात्र बन गए, गुजरात को लिखी चिट्ठी सुर्खियों में | Dr. Manoj Govil, IAS


भोपाल। कहते हैं भारत में नौकरशाह ही किसी राज्य के भाग्यविधाता होते हैं। वाणिज्यिक कर मंत्रालय के प्रभारी पीएस डॉ. मनोज गोविल की एक चिट्ठी ने उन्हे हंसी का पात्र बना दिया। चुनावी चटखारों के बीच रेड कार्पेट से लेकर तृतीय श्रेणी कर्मचारियों तक उनका मजाक उड़ाया जा रहा है। 

मध्यप्रदेश में चुनाव को ध्यान में रखते हुए पीएस डॉ. मनोज गोविल ने गुजरात सरकार को एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने आग्रह किया है कि मध्यप्रदेश की सीमा से लगी गुजरात की शराब दुकानों को दिनांक 26/11/2018 से मध्यप्रदेश में मतदान दिनांक 28/11/2018 तक के लिए बंद रखा जाए। उन्होंने आशंका जताई है कि चुनाव के समय गुजरात से मध्यप्रदेश में शराब लाई या भेजी जा सकती है।

बता दें कि गुजरात में शराब की बिक्री प्रतिबंधित है। गुजरात में मध्यप्रदेश की तरह देशी और विदेशी शराब की दुकानें संचालित नही होती हैं। अब जबकि गुजरात में शराब की दुकानें ही नहीं हैं तो बंद करने का आदेश किसे दें। मंत्रालय में यह चिट्ठी सुर्खियों में है। उप सचिव अदिति कुमार त्रिपाठी इस पत्र को दबाने में लगे हैं।