नरेंद्र मोदी ने 16 साल बाद राम मंदिर पर कुछ बोला: डॉ प्रवीण तोगड़िया ने बताया | NATIONAL NEWS

25 November 2018

नई दिल्ली। देश इन दिनों राम मंदिर आंदोलन में नरेंद्र मोदी की भूमिका तलाश रहा है। विश्व हिन्दू परिषद (VHP) के पूर्व नेता डॉ प्रवीण तोगड़िया ने बताया कि 'राम मंदिर के विषय पर नरेंद्र मोदी ने कभी कुछ नहीं बोला। 12 साल गुजरात के मुख्यमंत्री और चार साल से ज्यादा समय तक प्रधानमंत्री के तौर पर, कुल 16 साल तक सत्ता का सुख लेने के बाद मोदी ने आज पहली बार राम मंदिर के बारे में बोला है। बता दें कि मोदी ने राजस्थान के अलवर में एक चुनावी सभा मं राम मंदिर का जिक्र किया। 

विकास खोखला, इसलिए मंदिर

तोगड़िया ने कहा कि भगवा दल चुनाव से पहले इस मुद्दे को इसलिए उठा रहा है क्योंकि उसका विकास का वायदा खोखला साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि 1989 में भाजपा ने पालमपुर में एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें कहा गया था कि बहुमत हासिल करने के बाद संसद में कानून पारित करके अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने पूछा, ‘साढ़े चार साल के बाद भी मोदी ने पूर्ण बहुमत होने के बावजूद राम मंदिर के लिए कानून क्यों पारित नहीं किया?’ 

मंदिर निर्माण का वादा BJP ने किया था तो CONGRESS दोषी कैसे हुई

तोगड़िया ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में देरी के लिए मोदी अब कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, जबकि मंदिर निर्माण कराने का वायदा भाजपा ने किया था न कि कांग्रेस ने। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस अड़ंगे डाल रही है। वो जजों को महाभियोग का डर दिखाकर मंदिर का फैसला टाल रही है। 

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->