LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





ज्योतिष: मप्र में कुंभ राशि वाले मुख्यमंत्री कभी चुनाव नहीं हारे | MP NEWS

19 October 2018

भोपाल। ज्योतिष अनुसंधान के अपने तरीके होते हैं। कुछ विज्ञान पर आधारित होते हैं जो कुछ अनुभव के आधार पर पूर्वानुमान होते हैं या फिर इत्तेफाक को जोड़कर भविष्यवाणियां भी की जातीं हैं। ऐसा ही एक अनुसंधान यह भी है। मप्र में केवल कुल 30 मुख्यमंत्री हुए। इनमें से 8 कुंभ राशि के हैं। इसका तात्पर्य यह नहीं कि कुंभ राशि वाले ही मप्र के मुख्यमंत्री बन सकते हैं परंतु यदि ध्यान दें तो यह संकेत जरूर मिलता है कि ऐसे राजनेता जिनकी पत्रिका में प्रबल राजयोग हो, और वो कुंभ राशि के हों तो मप्र में लम्बे समय तक शासन कर सकते हैं। एक और संकेत है जो इस निष्कर्ष को शक्तिशाली बनाता हैं। मप्र में आज तक कुंभ राशि का कोई मुख्यमंत्री चुनाव नहीं रहा। 3 बार राष्ट्रपति शासन के कारण सरकार गई। शिवराज सिंह की भी कुंभ राशि है और इस बार चुनाव हो रहे हैं।

एक और संकेत है जो इस निष्कर्ष को शक्तिशाली बनाता हैं। मप्र में आज तक कुंभ राशि का कोई मुख्यमंत्री चुनाव नहीं हारा। ऐसा कभी नहीं हुआ कि कुंभ राशि का मुख्यमंत्री, पार्टी की तरफ से फिर से सीएम कैंडिडेट बनाया गया हो और उसकी सरकार चुनाव हार गई हो। कुंभ राशि वाले मुख्यमंत्रियों की कुर्सी 3 बार राष्ट्रपति शासन के कारण गई। बाकी पार्टी पॉलिटिक्स के कारण। शिवराज सिंह की भी कुंभ राशि है और इस बार चुनाव हो रहे हैं। भाजपा ने शिवराज सिंह को सीएम कैंडिडेट भी घोषित कर दिया है। 

अब जरा कुंभ राशि वाले मुख्यमंत्रियों की लिस्ट देखिए: 
श्यामाचरण शुक्ल प्रदेश के 10वें मुख्यमंत्री। 
श्यामाचरण शुक्ल 13वें मुख्यमंत्री। 
सुंदरलाल पटवा 16वें मुख्यमंत्री। 
श्यामाचरण शुक्ल 22वीं मुख्यमंत्री। 
शिवराज सिंह चौहान 28वें मुख्यमंत्री। 
शिवराज सिंह चौहान 29वें मुख्यमंत्री। 
शिवराज सिंह चौहान 30वें मुख्यमंत्री।

चुनाव नहीं हारे राष्ट्रपति शासन के करण हटे
एक संयोग यह भी है कि मप्र में अब तक तीन बार राष्ट्रपति शासन लगा है और तीनों ही बार मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे व्यक्ति की राशि कुंभ ही थी। सबसे पहले 29 अप्रैल 1977 से 25 जून 1977 तक राष्ट्रपति शासन लगा था, तब मुख्यमंत्री थे श्यामाचरण शुक्ल। दूसरी बार 18 फरवरी 1980 से 8 जून 1980 तक दूसरा राष्ट्रपति शासन लगा था, तब मुख्यमंत्री थे सुंदरलाल पटवा। तीसरी बार सबसे लंबी अवधि के लिए 16 दिसंबर 1992 से 6 दिसंबर 1993 तक राष्ट्रपति शासन लगा था, तब भी मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा ही थे। अब शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं, और इस फिलहाल चुनाव हैं। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Suggested News

Popular News This Week

 
-->