रेप केस दर्ज करा, सुसाइड करने JABALPUR से BHOPAL आए दंपत्ति | MP NEWS

19 October 2018

भोपाल। जबलपुर में एक दवा कंपनी के मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव एवं उसकी पत्नी ने लगातार 4 बार सुसाइड की कोशिश की। पहले वो जबलपुर में नर्मदा नदी में कूदने गए, फिर रेल के सामने कूदने के लिए ट्रेक पर पहुंच गए। यहां भी मन बदल गया तो भोपाल आ गए और बड़े तालाब में कूदने जा पहुंचे। यह प्रयास भी बिफल हुआ तो होटल में रूम लिया और जहरीली दवा खा ली। दरअसल, महिला के साथ रेप हुआ और आरोपी ने उसे ब्लैकमेल भी किया। मामला दर्ज होने के बाद आरोपी हाल ही में जमानत पर छूट आया। जो व्यक्ति इस केस में दंपत्ति की मदद कर रहा था वो भी पलट गया। बदनामी के डर से दंपत्ति आत्महत्या की कोशिश कर रहा है। 

पहले महिला से की ज्यादती, फिर बना लिया उसका वीडियो
एसआई उमेश चौहान के मुताबिक, जबलपुर निवासी 28 वर्षीय महिला की 2012 में छिंदवाड़ा के एक मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव से शादी हुई थी। कुछ महीने बाद दोनों छिंदवाड़ा से जबलपुर शिफ्ट हो गए। यहां महिला के पूर्व परिचित संतोष ने उसे परेशान कर दिया। झांसे में लेकर उसने महिला के साथ ज्यादती की और वीडियो भी बना लिया। ये वीडियो उसने महिला के पति को भेज दिया। महिला ने आरोपी के खिलाफ जबलपुर के थाने में ज्यादती और ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज करवाया। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी की हाल ही में जमानत हो गई।

केस हारने के डर से सुसाइड प्लान किया
कुछ समय बाद महिला को पता चला कि उसकी मदद करने वाला व्यक्ति भी आरोपी के साथ हो गया है। इससे महिला घबरा गई। उसे लगा कि केस कमजोर हो जाएगा। इस घटना से बदनामी महसूस कर रहे एमआर भी बेहद तनाव में थे। कुछ दिन पहले दंपती ने खुदकुशी की योजना बना ली। 

तीन बार सुसाइड करने गए लेकिन हिम्मत नहीं हुई
परेशान होकर दोनों पहले जबलपुर स्थित नर्मदा घाट पर पहुंचे, यहां पानी में कूदकर जान देने की योजना थी। हिम्मत नहीं हुई तो दोनों रेलवे ट्रैक पर गए। यहां भी ऐसा ही हुआ। इसके बाद बीती 16 अक्टूबर को दोनों ट्रेन से भोपाल स्टेशन आ गए। ऑटो से बड़े तालाब पहुंचे, लेकिन तीसरी बार भी हिम्मत नहीं जुटा पाए। मैजिक वाहन से रोशनपुरा आए और यहां से लो फ्लोर बस के जरिए दोबारा भोपाल रेलवे स्टेशन पहुंचे।

भोपाल में क्या हुआ
स्टेशन से दोनों ने एक ऑटो किराए पर किया और मंगलवारा छावनी स्थित होटल सिटी पैलेस आ गए। रास्ते में ऑटो रुकवाकर युवक ने मेडिकल स्टोर से इल्ली मार दवा खरीद ली। होटल में एक कमरा बुक कर लिया। मंगलवार रात करीब 11 बजे दोनों ने दवा पी ली। घबराहट शुरू हुई तो युवक ने मैनेजर से किसी बड़े अस्पताल का पता पूछा। मैनेजर ने एक ऑटो वाले की मदद से दोनों को हमीदिया अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उनकी जान बचा ली। अस्पताल से मिली सूचना के बाद पुलिस पहुंची और एक दंपती के अवसाद में जाने की कहानी का खुलासा हुआ।

अब चल रही काउंसलिंग
पुलिस ने दोनों के बयान दर्ज करने के बाद उनके खिलाफ खुदकुशी की कोशिश का मामला दर्ज कर लिया है। युवक अब भी यही कह रहा है कि मेरी बहुत बदनामी हो चुकी है, अब मैं ज्यादा दिन तक नहीं जी सकता। इसलिए पुलिस ने उनके परिवार को सूचना देकर दंपती को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया है। यहां दोनों की काउंसलिंग जारी है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week