संस्कारी बाबू तो विलेन निकले: संध्या मृदुल ने बताया कितने गंदे आदमी हैं | BOLLYWOOD NEWS

10 October 2018

टीवी और फिल्मों के संस्कारी बाबू आलोक नाथ ​तो विलेन निकले। अब तक उनकी 2 कहानियां सामने आ चुकीं थीं। अब तीसरी भी आ गई। इस बार टीवी-फिल्म एक्ट्रेस संध्या मृदुल ने अपने साथ हुआ हादसा बयां किया है। किसी फिल्मी विलेन की तरह आलोक नाथ ने संध्या का रेप करने की कोशिश की। प्रोडक्शन हेड के मना करने के बाद भी आलोक नाथ अपनी जिद पर अड़े रहे।

टीवी-फिल्म एक्ट्रेस संध्या मृदुल ने लिखा- करियर के शुरुआती दिनों में मैं आलोक नाथ और रीमा लागू के साथ एक टेली फिल्म की शूटिंग कर रही थी। मैं आलोक नाथ की बहुत इज्जत करती थी और उत्साहित थी कि इतने सितारों के साथ मैं काम कर रही हूं। आलोक नाथ भी समय समय पर मेरी तारीफ किया करते थे और मुझे "God's own child" कहते थे लेकिन जल्द ही मेरा भ्रम टूट गया। एक रात शूटिंग जल्दी खत्म हो गई तो हम सभी कास्ट मेंबर्स साथ साथ डिनर करने गए। वहां आलोक नाथ ने काफी शराब पी ली और मुझे अपने पास बुलाकर बैठने को कहा.. और कहने लगे कि तुम मेरी हो Etc etc.. मुझे कुछ अच्छा अनुभव नहीं हो रहा था। लेकिन मेरे कोस्टार्स ने मामले को समझा और मुझे तुरंत वहां से बाहर भेज दिया। 

संध्या ने लिखा- मैं बिना डिनर के ही वापस अपने रूम चली आई। काफी रात हो चुकी थी, मैं अपने कमरे में लेटी थी। जब कॉस्ट्यूम दादा मुझे अगले दिन के लिए कॉस्ट्यूम देने आए। मैंने उनसे कपड़े लिए और दरवाज़ा बंद कर दिया। कुछ ही मिनट हुए थे कि दरवाजे पर किसी ने खटखटाया। मैंने दरवाजा खोला तो नशे में धुत्त आलोक नाथ खड़े थे। मैंने तुरंत दरवाजा बंद करना चाहा लेकिन वह धक्का देकर अंदर घुस आए और मेरे पीछे पड़ गए। वह चिल्लाए जा रहे थे कि तुम मेरी हो.. मैं बाथरुम की तरफ भागी, वह भी मेरे पीछे आए। फिर मैंने तुरंत वहां से निकलकर उन्हें बाथरुम में ही बंद कर दिया। मुझे गालियां देने लगे, मैं कमरे से निकलकर लॉबी में आई तो मेरे प्रोडक्शन हेड रिसेप्शन पर मिल गए। वो मेरे साथ रूम तक आए, और वहां जो देखा उसे देखकर हैरान रह गए। नशे में धुत्त आलोक मेरे कमरे से जाने से इंकार कर रह थे और मुझे गालियां दिये जा रहे थे। यहां तक की उस वक्त भी वह मुझे जबरदस्ती पकड़ने की कोशिश करते रहे। 

किसी तरह उन्हें मेरे कमरे से निकाला गया। और मेरे साथ मेरी हेयरड्रेसर को रहने की परमिशन दी गई। मुझे इतना गहरा सदमा लगा था कि मैं बीमार पड़ गई। अगले दिन मुझे आलोक नाथ के साथ ही एक सीन की शूटिंग करनी थी और मुझे यह सोच सोचकर ही बहुत अजीब लग रहा था। खैर, किसी तरह शूट खत्म हुई लेकिन उनकी हरकतें नहीं सुधरी। वह रोज रोज होटल में मेरे कमरे का दरवाजा खटखटाते रहते और फोन पर फोन करते रहते। मैंने अपने रुम का फोन उठाना ही छोड़ दिया था 

एक रात वह आए बिना नशे में.. काफी मिन्नतों के बाद मेरी हेयरड्रेसर की मौजूदगी में उन्हें अंदर आने दिया गया। जब उन्होंने माफी मांगी और कहा कि मैं उनकी बेटी जैसी हूं। वह अपनी हरकतों के लिए काफी शर्मिंदा हैं और नशे का इलाज करवाना चाहते हैं। 

मुझे लगा बात वहीं खत्म हो गई। लेकिन जब मैं शूटिंग से वापस आई तो कुछ समय के बाद मुझे पता चला कि आलोक नाथ ने मेरे बारे में लोगों को कहा है कि मैं अनप्रोफेशनल और घमंडी हूं। वह उस वक्त स्टार थे और मैं न्यूकमर। जाहिर है कोई मेरी बात पर क्यों विश्वास करता। खैर, इन मुश्किल समय में रीमा लागू जी ने मेरा काफी साथ दिया है। वह मेरा काफी ख्याल रखती थीं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week