त्योहारी सीजन में डेबिट क्रेडिट कार्ड फ्रॉड से कैसे बचें: नॉर्टन ने बताया | TECH NEWS

29 September 2018

दिवाली के लिए अभी एक महीना बाकी है, लेकिन ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट्स पर कुछ भी प्रोडक्ट खरीदने पर अभी से ही ढेर ऑफर मिलने लगे हैं। त्योहारी सीजन में ज्यादातर लोग इन ऑफर्स का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं, लेकिन ये ही वो वक्त होता है जब हैकर्स आपका अकाउंट हैक कर आपको कंगाल करते हैं। साइबर सिक्योरिटी कंपनी नॉर्टन ने ऑनलाइन शॉपर्स को चेतावनी दी है कि त्योहारी सीजन के दौरान ऑनलाइन शॉपिंग करने में सावधानी बरतें। हैकर्स "फॉर्मजैकिंग तकनीक" से शॉपर्स को अपना निशाना बना रहे हैं।

बता दें कि जब मैलीशस जावास्क्रिप्ट के जरिए क्रेडिट/डेबिट कार्ड की जानकारी और ई-कॉमर्स वेबसाइट्स के वेब पेज से पेमेंट फॉर्म्स को चेकआउट किया जाता है। तब फॉर्मजैकिंग शब्द का इस्तेमाल किया जाता है। जानिए इस खतरनाक हैकिंग तकनीक से जुड़ी  महत्वपूर्ण बातें...

फॉर्मजैकिंग तकनीक का इस्तेमाल कर हैकर्स डेबिट और क्रेडिट कार्ड की सारी डिटेल हासिल कर लेते हैं। जब कोई ई-कॉमर्स साइट पर विजिटर फॉर्म सबमिट करता है, तो हैकर यूजर द्वारा जमा की गई सारी डिटेल जैसे भगुतान की राशि, यूजर का नाम और पता सब चोरी कर लेता है। हैकर्स तब इस जानकारियों को अन्य हैकर्स को बेच देते हैं। हाल  ही में ब्रिटिश एयरवेज और टिकटमास्टर वेबसाइट पर इस तरह का हमला होने का मामला सामने आया है। हैकर्स ने लगभग 3.8 लाख यूजर्स के क्रेडिट कार्ड डिटेल्स चुराई थी।

जानिए आपकी बैंक डिटेल कैसे हैक होती है

जब भी कोई ऑनलाइन बायर किसी भी ई-कॉमर्स साइट पर सबमिट क्लिक करता है या फिर किसी वेबसाइट के पेमेंट फॉर्म पर अपनी डिटेल भेजता है तो हैकर्स द्वारा पहले से ही इंजेक्ट किया गया मैलियारस जावास्क्रिप्ट कोड आपका नाम, पता और के्रडिट कार्ड की डिटेल्स जैसी जानकारी इक_ी कर लेता है। इसके बाद हैकर्स चाहे तो इन जानकारियों का उपयोग पेमेंट फ्रॉड करने या फिर आपकी जानकारी किसी दूसरे अपराधी को बेचने में कर सकता है।

साइबर फ्रॉड से ऐसे बचें

सबसे पहले कोशिश करें कि जानी-पहचानी ऑनलाइन वेबसाइट्स से ही शॉपिंग करें। अगर किसी नई वेबसाइट से शॉपिंग कर भी रहे हैं तो पहले इसके बारे में पता कर ेंल कि ये सही है भी या नहीं।

अपने अकाउंट को यूनिक पासवर्ड से सेफ रखें। खासतौर पर अपने पासवर्ड में कम से कम 10 लैटर्स और अलग-अलग चिन्हों का इस्तेमाल करें। ऐसे में आपका पासवर्ड यूनिक रहेगा और हैक होने की संभावना कम होगी। अगर आपके पास एक से ज्यादा खाते हैं, तो सभी में अलग-अलग पासवर्ड का यूज करें, एक जैसे पासवर्ड का इस्तेमाल न करें।

किसी भी तरह के अवांछित मैसेजों को खोलने से पहले दो बार जरूर सोच लें। खासकर तब जब आप मैसेज भेजने वाले को नहीं जानते। यह मैसेज एक साइबर क्राइम हो सकता है, आपके मैसेज खोलते ही आपसे और आपके परिवार से जुड़ी लोगों के अकांट्उस की सभी जानकारी हैक हो जाती है।

एक नया नेटवर्क कनेक्टेड डिवाइस स्थापित करते समय डिफॉल्ट पासवर्ड को बदलना याद रखें। अगर आप स्मार्ट अप्लायंसेज या इससे जुड़े किसी इंटरनेट फीचर को इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो रिमोट ऐक्सेस को डिसेबल कर दें।

अपने वायरलैस कनेक् शन को मजबूत वाई-फाई एन्क्रिप्शन से सुरक्षित रखें, ताकि कोई भी आपके डाटा को आसानी से न देख सकें।
हमेशा नए एंटी वायरस सॉफ्टवेयर डिवाइस अपडेट करते रहें।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week