दांतों में दर्द, बदबू, पीलापन: हर बीमारी का इलाज हैं आयुर्वेदिक पत्तियां | AYURVEDA FOR DENTAL

28 September 2018

दांतों की कोई भी समस्या हो, इसे लेकर आपको कई बार परेशानी के साथ ही शर्मिन्दगी भी झेलनी पड़ती है। आज केमिकलयुक्त टूथपेस्ट और गलत खानपान के कारण लोगों में दांतों की समस्या बहुत आम बात है। कुछ लोगों को दांतों में दर्द रहता है, तो कुछ को दांतों में गर्म-ठंडा लगता है। कई लोगों को झनझनाहट महसूस होती है, तो किसी के दांतों का पीलापन उसे शर्मिन्दा करता है। इसके लिए आज लोग तुरंत डेंटिस्ट की मदद लेते हैं। आपको बता दें कि डॉक्टर के पास दांतों का इलाज कराना काफी महंगा पड़ता है साथ ही लंबे समय तक इनके सही रहने की भी गारंटी नहीं है। ऐसे में अगर आप आयुर्वेद का सहारा लें, तो आपके लिए बेहद फायदेमंद होगा। आयुर्वेद में पत्तियों के सहारे दांतों का इलाज संभव है। आयुर्वेद में कुछ ऐसी तीन खास पत्तियों के बारे में बताया गया है, जो दांतों की हर समस्या को दूर करती है। तो जानते हैं इन आयुर्वेदिक पत्तियों के बारे में। 

नीम की पत्ती: मसूड़ों की सभी बीमारियों का इलाज


ये तो आप जानते होंगे की दांतों और मसूड़ों की हर समस्या से निपटने के लिए नीम की पत्तियां रामबाण इलाज हैं। दरअसल, नीम की पत्तियों में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जिसके कारण इसके इस्तेमाल से मुंह के सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। अगर आपके दांतों में दर्द रहता है तो नीम की तीन से चार पत्तियों को धोकर चबाएं। हालांकि ये स्वाद में कड़वी होती है, लेकिन इन्हें चबाने से बहुत आराम मिलता है। यदि मुंह से बदबू आए, तो रोज नीम की दातुन से मुंह की सफाई करें। साथ ही अगर दांतों में झनझनाहट होती है तो पानी में नीम की पत्तियां उबालकर इससे कुल्ला करें। 

बबूल की पत्तियां: दांत में कीड़े खत्म कर देतीं हैं


नीम की ही तरह बबूल की पत्तियां भी मुंह की हर समस्या को दूर करती है। बबूल की छाल, पत्तियां और फलियां तीनों ही दांतों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। मसूड़ों में खून आने लगे तो बबूल की छाल को पानी में उबालकर इस काढ़े से कुल्ला करें। इससे दांत में कीड़े की समस्या भी दूर होती है। इतना ही नहीं दांतों में पीलापन हो, तो बबूल की छाल, पत्ती और फूल का पेस्ट बनाकर रोजाना इसके मंजन करें। पीलापन दूर हो जाएगा। 

तुलसी की पत्तियां: दांतों में बदबू और पीलेपन की समस्या दूर करतीं है


आयुर्वेद में तुलसी को औषधि माना गया है। ये कई तरह के रोगों को दूर कर सकती है, जिसमें दांतों से जुड़ी बीमारी भी एक है। अगर मुंह से बदबू आए, तो ऐसे में तुलसी की तीन से चार पत्तियां रोजाना चबाएं। दांतों में पीलेपन की समस्या भी तुलसी के पत्तों को सुखाकर इसका पेस्ट बनाकर दांतों को साफ करने से दूर हो जाएगी। अगर दांतों में दर्द हो तो तुलसी की पत्तियों को कुचलकर दर्द वाली जगह पर लगाएं, आराम मिलेगा। मसूड़ों की सूजन होने पर तुलसी की पत्तियों की चाय बनाकर पीना अच्छा आयुर्वेदिक उपचार है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->