UP में पुजारियों की हत्या, कई कुर्रेशी फरार | NATIONAL NEWS

17 August 2018

इटावा/उत्तरप्रदेश। 15 अगस्त हो गई इस घटना से हालात तनावपूर्ण हो गए हैं। औरैया के विधूना इलाके में स्थित भयानकनाथ मंदिर के दो पुजारियों की बुधवार तड़के हत्या कर दी गई और तीसरे पुजारी को गम्भीर रूप से घायल कर दिया गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि गो हत्याओं का विरोध करने के कारण पुजारियों की हत्या की गई है। हत्यारे दोनों पुजारियों की जीभ भी काटकर ले गए। कुछ मुसलमानों का कहना है कि कुर्रेशी समाज के लोग गो हत्याएं करते हैं। बाकी का इससे कोई लेना देना नहीं है। इधर कुर्रेशी परिवारों के कई लोग घटना के बाद से ही गायब हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मारे गए पुजारियों के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपये और घायल पुजारी को एक लाख रुपये की आर्थिक मदद देने को भी कहा है। 

गुस्साई भीड़ ने गाड़ियां फूंकी
एसपी औरैया नागेश्वर सिंह ने वारदात के बाद लापरवाही के आरोप में विधूना के इंस्पेक्टर अखिलेश मिश्रा और चौकी के कॉन्स्टेबल इस्लाम को निलम्बित कर दिया है। मंदिर में पुजारियों की हत्या की खबर फैलते ही बुधवार 15 अगस्त को लोग सड़क पर उतर आए। भीड़ ने पुलिस व मीडिया पर पथराव करने के साथ ही वहां से गुजर रहे वाहनों पर भी गुस्सा उतारा। कुछ गाड़ियां भी फूंक दी गईं। लोगों का आरोप था कि गायों की रक्षा करने के कारण पुजारियों की हत्या की गई है। 

16 अगस्त को सभी स्कूल कॉलेज बंद, पुलिस-पीएसी तैनात

भीड़ सीएम के आने के बाद ही शव पुलिस को देने की जिद पर अड़ गई। भीड़ काबू करने के लिए आस-पास के जिलों से भी फोर्स बुलानी पड़ी। पुलिस अफसरों से भी अभद्रता की गई। स्थानीय लोग किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थे। हालात इस कदर बिगड़े कि डीएम ने सभी स्कूल-कॉलेज भी बंद करवा दिए। पुलिस ने आंसूगैस के गोले छोड़कर भीड़ को काबू किया। तनाव के चलते गुरुवार को भी क्षेत्र में पुलिस-पीएसी तैनात रही।

गोहत्या का विरोध करते थे, जीभ काट ले गए हत्यारे
ग्रामीणों के अनुसार, कुदरकोट गांव स्थित मंदिर में तीन पुजारी, लज्जाराम, हल्केराम और रामकरन रहते थे। तीनों मंदिर की देखभाल करने के साथ ही गो सेवा भी करते थे। यह भी बताया जा रहा है कि पुजारियों ने कुछ दिन पहले गोकशी का विरोध किया था। बुधवार सुबह जब कुछ लोग मंदिर पहुंचे तब इस हत्याकांड का पता चला। लज्जाराम और हल्केराम के शव चारपाई पर बंधे मिले जबकि घायल रामकरन जमीन पर तड़प रहे थे। पुलिस के अनुसार, लज्जाराम और हल्केराम के हाथ-पैर चारपाई से बांधने के बाद धारदार हथियार से उनका गला रेतकर हत्या की गई। उनकी जीभ भी हमलावरों ने काट दी। वहीं रामकरन को हमलावर मरणासन्न हालत में छोड़ गए। उन्हें आयुर्विज्ञान संस्थान सैफई में भर्ती करवाया गया। 

सीएम सख्त, दिए आदेश
योगी आदित्यनाथ, सीएम उत्तरप्रदेश ने कहा है कि सरकार इस तरह के कृत्य को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने डीजीपी को आदेशित किया है कि वो तत्काल आरोपियों को गिरफ्तार करें। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week