18 सीटों पर भाजपा विधायकों की टक्कर भाजपाई दावेदारों से | MP ELECTION NEWS

10 August 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश में इन दिनों एक-एक सीट महत्वपूर्ण है। 116 के जादुई आंकड़ें तक पहुंचने के लिए इधर सीएम शिवराज सिंह मैदान में हैं तो उधर कमलनाथ जुगाड़ की राजनीति खेल रहे हैं। भाजपा के सामने कई चुनौतियां हैं। एक चुनौती पार्टी के भीतर से आ रही है। 18 ऐसी सीटें हैं जहां भाजपा के विधायक/मंत्री काबिज हैं परंतु इन सीटों पर नए दावेदार पूरी ताकत से सक्रिय हो चुके हैं। यहां मौजूद विधायकों की पहली टक्कर अपनी ही पार्टी के दावेदारों से है। पहले टिकट की लड़ाई जीतनी होगी, फिर चुनाव की बारी आएगी। ऐसे हालात में भितरघात कोई नहीं रोक पाएगा। 

रतलाम सिटी से विधायक एवं पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी तो दौड़े-दौड़े भोपाल चले आए। उनकी सीट पर चैतन्य कुमार काश्यप ने दावा ठोक दिया है। कोठारी उनकी शिकायत लेकर आए थे। 
दो बार के विधायक जसवंत सिंह हाड़ा की शुजालपुर सीट पर इस बार विजेंद्र सिंह सिसौदिया ने दावा ठोक दिया है। सिसोदिया फिलहाल ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष हैं। सिसादिया केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के नजदीकी हैं और तोमर फिलहाल पॉवर में हैं। 
पूर्व मुख्यमंत्री व गोविंदपुरा से विधायक बाबूलाल गौर की सीट पर महापौर आलोक शर्मा और पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक काम कर रहे हैं। जबकि बाबूलाल गौर ने अपनी बहू कृष्णा गौर को अपना वारिस बना रखा है। 

भोपाल शहर जिलाध्यक्ष व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह की विधानसभा में पूर्व विधायक ध्रुवनारायण सिंह और प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी सक्रिय हैं। ध्रुवनारायण सिंह पहले भी विधायक थे परंतु चरित्रहीनता के मामले में उन्हे 2013 का टिकट नहीं मिला था। 
भोपाल में कहा जा रहा है कि बैरसिया विधायक विष्णु खत्री का ​टिकट हर हाल में कट होगा अत: यहां कई दावेदार सक्रिय हो गए हैं। 
भोपाल की हुजूर विधानसभा का भी कुछ ऐसा ही हाल है। विधायक रामेश्वर शर्मा पूरी ताकत से सक्रिय हैं पंरतु उन्हे अपनी ही पार्टी में खुले विरोध का सामना करना पड़ रहा है। 


जबलपुर में मंत्री शरद जैन जबलपुर उत्तर सीट से विधायक हैं। इस पर धीरज पटेरिया काम कर रहे हैं। 
जबलपुर की पनागर सीट से सुशील तिवारी विधायक हैं, जबकि यहां पूर्व विधायक नरेंद्र त्रिपाठी लगातार जनता के बीच बैठक कर रहे हैं।
मुरैना में मंत्री रुस्तम सिंह की सीट से जिलाध्यक्ष रहे अनूप सिंह भदौरिया ने दावेदारी कर दी है। 
भिंड जिले की मेहगांव सीट से मौजूदा विधायक चौधरी मुकेश सिंह चतुर्वेदी के क्षेत्र में राकेश शुक्ला एक्टिव हैं। कहा जा रहा है कि चौधरी की इस बार घरवापसी होगी। 

टीकमगढ़ में निवाड़ी सीट से अनिल जैन विधायक हैं, जबकि इसी सीट पर भाजपा के ही वरिष्ठ नेता सुमित मिश्रा ने दावेदारी कर दी है। इस बार निवाड़ी के जिला बनने की संभावना है। 
सतना में रामपुर बघेलान की सीट से वर्तमान में राज्यमंत्री हर्ष सिंह विधायक हैं लेकिन अब सांसद गणेश सिंह के भाई उमेश सिंह सक्रिय हो गए हैं। उन्हे गणेश सिंह पर पूरा भरोसा है कि वो टिकट ले ही आएंगे। 
होशंगाबाद में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा की होशंगाबाद सीट पर नगर पालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल काम कर रहे हैं। यहां सीतासरन को कई विवादों का सामना करना पड़ रहा है। 
होशंगाबाद की सिवनी मालवा की पूर्व मंत्री सरताज सिंह की सीट से खनिज निगम के अध्यक्ष शिव चौबे दावा कर रहे हैं। इस सीट पर सरताज सिंह का कब्जा माना जाता है। 

बालाघाट की वारासिवनी के मौजूदा विधायक डॉ. योगेंद्र निर्मल हैं। इस सीट पर संजय सिंह काम कर रहे हैं। डॉ. योगेंद्र निर्मल के खिलाफ पोल खोल अभियान भी चलाया गया। 
इंदौर-तीन से भाजपा की फायर ब्रांड महिला नेता ऊषा ठाकुर विधायक हैं, जबकि इसी सीट पर ललित पोरवाल और गोविंद मालू सक्रिय हैं। गोविंद मालू इन दिनों सीएम शिवराज सिंह के आसपास नजर आते हैं। 
इंदौर-चार सीट से महापौर मालिनी गौड़ विधायक हैं। यहां शंकर ललवानी ने दावेदारी रखी है। 

230 सीटों के लिए अब तक 1000 दावेदार
पार्टी दफ्तर में अभी तक एक हजार से अधिक आवेदन टिकट की दावेदारी के पहुंच गए हैं। सितंबर में इसमें तेजी आएगी। पार्टी इन सभी को सूचीबद्ध कर प्रदेश चुनाव समिति की पहली बैठक में रखेगी।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...