STUDENT पर ऐसिड फेंक CAR से भागे बदमाश। CRIME NEWS - Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh)

Bhopal की ताज़ा ख़बर खोजें





STUDENT पर ऐसिड फेंक CAR से भागे बदमाश। CRIME NEWS

26 July 2018

BHOPAL: बैरागढ़ में कार सवार अज्ञात बदमाश कक्षा छठवीं के छात्र पर ऐसिड फेंक कर भाग निकले। एसिड अटैक से अमित का चेहरा बुरी तरह झुलस गया है। छाती पर भी फफोले पड़ गए हैं, लेकिन संयोग से आंखों पर एसिड का असर नहीं हुआ। अमित के अनुसार उस समय बारिश हो रही थी कार कीचड़ से निकली तो पानी के छींटे भी मेरे ऊपर आ गिरे मैंने आंखें बंद कर ली इस कारण एसिड आंखों पर नहीं लगा। आरोपितों ने 13 साल के बच्चे पर एसिड क्यों फेंका यह रहस्य बना हुआ है। खजूरी पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार ग्राम ईंटखेडी निवासी किसान मुकेश मालवीय के चार बच्चे बैरागढ़ के विभिन्न स्कूल-कॉलेज में पढ़ते हैं। मालवीय ने पढ़ाई के उद्देश्य से बच्चों को बैरागढ़ कला में मकान दिलवाया है। बुधवार दोपहर करीब 2 बजे उनका पुत्र अमित मालवीय किराने की दुकान से कुछ सामान लेकर घर की तरफ जा रहा था।

इसी दौरान विकलांग आश्रम की तरफ से आ रही एक कार में सवार युवकों ने अमित के चेहरे पर एसिड फेंक दिया। आंखों में जलन होने के कारण अमित कार का नंबर नहीं देख सका, लेकिन उसने पुलिस को बताया कि कार सफेद रंग की थी। उस समय बारिश हो रही थी इसलिए आसपास के लोग भी मामले को समझ नहीं पाए।

जब तक लोगों को एसिड अटैक का पता चला कार गायब हो चुकी थी। 13 वर्षीय अमित अनंदराम टी शाहानी स्कूल में कक्षा छठवीं का छात्र है। अमित अपनी बहन प्रियंका एवं सिमरन के साथ ही पढ़ाई करता था। सूचना मिलने पर प्रियंका ने पिता मुकेश मालवीय को सूचना दी। परिजन उसे इलाज के लिए किशनानी अस्पताल ले आए।

खजूरी थाना पुलिस ने बहन प्रियंका की सूचना पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। प्रियंका साधु वासवानी कॉलेज में पढ़ती है। एएसआई शेरसिंह के अनुसार कार का नंबर पता नहीं चल सका है। पुलिस बच्चों के दोस्तों से भी पूछताछ करेगी। बताया जाता है कि घर में कुछ लोगों का आना-जाना था। युवक किस से मिलने आते थे इसका पता नहीं चल सका है।

एसिड अटैक था पर खतरा नहीं
अमित मालवीय के चेहरे पर संभवत: एसिड ही फैंका गया है। उसके चेहरे एवं सीने पर फफोले पड़ गए हैं, लेकिन आंखें सुरक्षित हैं। इलाज किया जा रहा है। स्थिति खतरे से बाहर है। 
डॉ. लाल कुमार किशनानी, संचालक किशनानी अस्पताल



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Popular News This Week

 
-->