दावे नहीं प्रमाण: नाले से होकर गुजरता है जनाजा, तिरपाल में अंतिम संस्कार | MP NEWS

25 July 2018

भोपाल। ये तस्वीर ​सीएम शिवराज सिंह के प्रिय जिला विदिशा की है। वही विदिशा जिसने सीहोर के शिवराज सिंह को सिर-माथे पर बिठाया। सांसद बनाया। जब शिवराज सिंह सीएम बने तो सबसे बड़ा जश्न मनाया। शिवराज सिंह के कहने पर पार्षद से लेकर सांसद तक को वोट दिए। वही विदिशा जो सीएम शिवराज सिंह का नया स्थाई पता होता जा रहा है। जहां सीएम शिवराज सिंह के बड़े-बड़े खेत हैं, उनके बेटे की डेयरी है। यहां ना तो बारिश के पानी से ना तो स्कूल सुरक्षित हैं और ना ही श्मशान। 

नाले से होकर गुजरता है जनाजा

यह तस्वीर​ विदिशा जिले के करारिया गाँव की है। इसे प्रमोद शर्मा ने शेयर किया है। यहां यदि बारिश के मौसम में किसी की मौत हो जाए तो सबसे बड़ी समस्या होती है उसका शवयात्रा। यहां जनाजा नाले से होकर गुजरता है। बड़ा खतरा हमेशा बना रहता है कि कहीं किसी का संतुलन बिगड़ गया तो क्या होगा। 

स्कूलों में पानी भरा


पिछले दिनों विदिशा शहर का एक सरकारी स्कूल पानी में डुबा हुआ नजर आया था। वो फोटो अब भी वायरल हो रही है। अब ये नया फोटो सामने आया है। यह एक प्राइवेट स्कूल है। बताया जाता है कि सीएम शिवराज सिंह के नजदीकी का ही है। यह स्कूल भी अब स्वीमिंग पुल में तब्दील हो गया है। यहां याद दिला दें कि चुनावों के दौरान शिवराज सिंह ने ऐलान किया था कि विदिशा शहर को पेरिस जैसा बना दूंगा। 

श्योपुर: तिरपाल में अंतिम संस्कार


यह फोटो हमें यश प्रताप सिंह चौहान ने भेजा है। ग्राम बड़ा खेड़ा ग्राम पंचायत छोटा खेड़ा में शमशान घाट नहीं है। पानी से भरे खेत में से अर्थी निकली गई। यह दृश्य इसी पंचायत के सहायक सचिव देवीशंकर बैरवा के पिताजी के अंतिम संस्कार का है। चिता के ऊपर तिरपाल लगाकर अंतिम संस्कार किया गया ताकि शव अधजला ना रह जाए। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->