Loading...

BJP आईटी सेल हेड पर सिंधिया से संबंधित भ्रामक प्रचार का आरोप | MP NEWS

भोपाल। सोशल मीडिया पर अफवाहें उड़ाकर लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ का खेल जारी है परंतु अब हालात 2014 जैसे नहीं है। इस बार कांग्रेस ऐसी गतिविधियों को गंभीरता से ले रही है। इसी के चलते मध्यप्रदेश बीजेपी आईटी सेल के मुखिया शिवराज डाबी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए शिकायत की गई है। शिवराज सिंह ने एक वीडियो का दुरुपयोग करते हुए इसे ब्राह्मणों का अपमान बताया था जबकि वह वीडियो कांग्रेस के तत्कालीन विधायक रामसिंह यादव का था। 

सिंधिया समर्थकों का दावा है कि इस वीडियो में सिंधिया अपमान नहीं कर रहे हैं, जबकि बीमारी से परेशान स्वर्गीय विधायक रामसिंह यादव को घर जाकर आराम करने के लिए मंच से उतार रहे हैं। इस मामले में सिंधिया समर्थकों ने भोपाल के हबीबगंज थाने में शिकायत दर्ज कराकर कार्रवाई की मांग की है। दरअसल मध्यप्रदेश बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख शिवराज डाबी ने फेसबुक पर एक वीडियो अपलोड करते हुए लिखा है कि 'पहले पैर पड़ाओ फिर अपमान कर दो यही है सिंधिया कुल नीति। ब्राह्मण समाज के कार्यक्रम में वरिष्ठ समाजसेवी पंडित बृजकिशोर शर्मा को अपमानित कर भगा दिया। यह अपमान करने वाला और कोई नहीं, बल्कि एक कांग्रेस का इच्छाधारी मुख्यमंत्री है।

इस पोस्ट को लेकर सिंधिया समर्थकों में जमकर नाराजगी है। सिंधिया समर्थकों ने भोपाल के हबीबगंज थाने में बीजेपी आईटी सेल अध्यक्ष द्वारा मध्यप्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के प्रमुख ज्योतिरादित्य सिंधिया के विषय में की गई भ्रामक पोस्ट पर कार्रवाई के लिए शिकायत दर्ज करायी है।

सिंधिया समर्थक कृष्णा घाड़गे का कहना है कि मध्यप्रदेश बीजेपी IT सेल के प्रमुख शिवराज डाबी ने अपने फेसबुक पेज पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक वीडियो पोस्ट किया है। ये वीडियो करीब डेढ़ साल पहले का है जिसमें मध्य प्रदेश चुनाव अभियान समिति के प्रमुख ज्योतिरादित्य सिंधिया और कोलारस के तत्कालीन विधायक स्वर्गीय राम सिंह यादव जी दिखाई दे रहे हैं। शिवराज डाबी ने अपनी पोस्ट में राम सिंह यादव को पंडित ब्रजकिशोर शर्मा बताकर पंडित शर्मा जी व ब्राह्मण समाज के बारे में झूठी आपत्तिजनक व भ्रामक बाते पोस्ट की है। इसलिए शिवराज डाबी के विरुद्ध आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाए। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com