Loading...

मराठा: आरक्षण के लिए आत्महत्या, 25 बसें जलाईं, 200 से ज्यादा वाहन तोड़े | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। मराठा आरक्षण के लिए सकल मराठा समाज की अपील पर सोमवार को महाराष्ट्र बंद बुलाया गया। प्रदर्शनकारियों ने पुणे में 25 बसें फूंक डाली। पुलिस पर भी पथराव किया। यहां धारा 144 लगानी पड़ी। सोलापुर में भी पुलिस पर पथराव किया गया। प्रदर्शनकारियों ने पुणे-नासिक राजमार्ग पर 100 वाहनों की तोड़फोड़ की, राजमार्ग बंद कर दिया। इधर औरंगाबाद से खबर आ रही है कि आरक्षण की मांग कर रहा एक मराठा युवक ​विरोध प्रदर्शन के दौरान ट्रेन के आगे कूद गया जिससे उसकी मौत हो गई। मराठा आंदोलन के दौरान यह तीसरी मौत है। आंदोलनकारियों की मांग है कि पिछड़ा वर्ग के तहत मराठा समाज को नौकरियों और शिक्षा में 16 फीसदी आरक्षण दिया जाए।

खुदकुशी से पहले फेसबुक पोस्ट लिखी

जानकारी के मुताबिक, सुसाइड करने वाला प्रमोद पाटिल मूलतः लातूर का रहने वाला है। पिता की नौकरी औरंगाबाद में थी जिस वजह से वह परिवार के साथ यहां रह रहा था। प्रमोद पिछले चार दिनों से लगातार आंदोलन में भाग ले रहा था। दोस्तों ने कहा कि प्रमोद आरक्षण को नौकरी न मिलने की वजह मान रहा था। खुदकुशी से पहले प्रमोद ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, "चलो आज एक मराठा जा रहा है। यह मराठा आरक्षण के लिए किया। जय जिजाऊ, आपका प्रमोद पाटिल।"

पुणे में 25 बसें जलाईं

प्रदर्शकारियों ने पुणे के चाकण इंडस्ट्रियल एरिया में 25 सरकारी बसों में आग लगा दी। सड़कों पर जाम भी लगाया। यहां अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। धारा 144 लागू कर दी गई है। शुक्रवार को मुंबई में आरक्षण की मांग को लेकर हिंसक प्रदर्शन हुए थे। यहां सरकारी बस और ट्रेन सेवा पर असर पड़ा था।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com