65 रुपए किलो दूध बेच रहे शिवराज के युवराज ने कहा: खुद से पहले अपने देश की चिंता

26 June 2018

सीहोर। पहले फूल की दुकान फिर दूध का कारोबार करने वाले सीएम शिवराज सिंह चौहान के चिरंजीव कार्तिकेय सिंह पार्टटाइम पॉलिटिक्स भी करते हैं। बीते रोज वो युवा मोर्चा के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बड़ा ही भावुक भाषण दिया। बोले, मैं वह युवा हूं जो खुद से पहले अपने देश की चिंता करता है। बता दें कि कार्तिकेय सिंह 'सुधामृत' के नाम से दूध का कारोबार करते हैं। इनका दूध 65 रुपए प्रतिकिलो की दर से भोपाल के वीआईपी इलाकों में बेचा जाता है। बता दें कि कार्तिकेय सिंह की बिट्टन मार्केट भोपाल में एक फूल की दुकान भी है। यहां मिलने वाले फूल भी आम आदमी की पहुंच से काफी दूर होते हैं। भगवान के श्रीचरणों में अर्पित करने के लिए कार्तिकेय की दुकान में फूल नहीं मिलते। यहां केवल वीआईपी के स्वागत हेतु तैयार किए गए गुल्दस्ते ही मिलते हैं। 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के बेटे कार्तिकेय ने सीहोर में भाजपा युवा मोर्चा के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। कार्तिकेय ने कार्यक्रम में युवा संकल्प रैली में युवाओं के बीच जज्बाती भाषण दिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कार्तिकेय ने कहा कि उनकी पहचान उनके पिता से है। ‘मैं नेता नहीं हूं, न किसी पद पर हूं, न कोई मार्गदर्शी और न ही मैं चुनाव लड़ने जा रहा हूं, मैं स्वतंत्र भारत का एक युवा नागरिक हूं, और भारतीय जनता पार्टी का एक कार्यकर्ता हूं।’ उन्होंने कहा कि मैं वह युवा हूं जो खुद से पहले अपने देश की चिंता करता है, जिसकी एक ही चाहत है कि मेरा देश दुनिया में सर्वप्रथम हो।’

उन्होंने अपने पिता सीएम शिवराज सिंह की सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों को कार्यक्रम में रखा और पूरी ताकत के साथ आगामी विधानसभा चुनाव 2018 में फिर से भाजपा को जिताने की अपील की। कार्यक्रम में आवासीय स्कूल से रवीन्द्र भवन तक भाजपा कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली निकाली। कार्यक्रम में कार्तिकेय ने अपने पिता की तर्ज पर ही भावनात्मक भाषण दिया।

कार्यक्रम में कार्तिकेय ने कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए कहा कि आज देश की राजनीति झूठ और भ्रम पर आधारित हो गई है। एकजुट होने वाले दल को उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता देश में झुठ और भ्रम का शासन नहीं होने देंगे। कार्तिकेय ने कहा कि कांग्रेस ने 50 साल देश पर शासन किया, अगर यह सक्रिय होते तो अपने प्रदेश कहां पहुंच गया होता। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सीएम एक किसान पुत्र है, लेकिन उन्होंने हमेशा किसी के बारे में बुरा नहीं बोलने की सीख दी है। इसी तरह की खबरें नियमित रूप से पढ़ने के लिए MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com


-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Popular News This Week