Loading...

पद्मश्री डॉ चतुर्वेदी ने बताईं व्यंग्य लेखक की निर्धारित अहर्ताएं

भोपाल। व्यंग्य लिखने के लिए व्यक्ति का सबसे पहले ईमानदार होना आवश्यक है, जो आदमी निर्भीक, निष्पक्ष नहीं है, वह और कुछ तो कर सकता है परन्तु व्यंग्य कभी नहीं लिख सकता। यह उदगार हैं सुविख्यात व्यंग्यकार पद्मश्री डॉ ज्ञान चतुर्वेदी के जो शांति-गया स्मृति सम्मान एवम अट्टहास शिखर सम्मान के अवसर पर शहीद भवन के सभागार में मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। इस अवसर पर सुपरिचित व्यंग्यकार श्रीमती सूर्यबाला को अट्टहास शिखर सम्मान से मंचस्थ अतिथियों पद्मश्री डॉ नरेंद्र कोहली, डॉ ज्ञान चतुर्वेदी, श्री अनूप श्रीवास्तव, सम्पादक अट्टहास श्री राकेश पालीवाल, श्री गिरीश पंकज, श्री सुभाष राय, श्री अरुण अर्णव खरे ने सम्मान निधि, शॉल,श्रीफल, एवम अभिनन्दन पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया। 

इस अवसर पर श्री अरुण अर्णव खरे की व्यंग्य कृति 'हेज़ टैग और मैं " तथा कहानी सँग्रह 'भास्कर राव इंजीनियर " का लोकार्पण अतिथियों ने किया, साथ ही वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती कान्ति शुक्ला के कंहानी सँग्रह "अनुरक्त-विरक्त " कुछ कहना है मुझे " काव्य सँग्रह श्रीमती मोनिका शर्मा की महत्वपूर्ण सद्य-प्रकाशित कृतियों का भी लोकार्पण अतिथियों द्वारा किया गया।

इस अवसर पर "गया प्रसाद खरे स्मृति साहित्य कला एवम खेल सम्वर्धन मंच भोपाल " द्वारा  किया गया इस अवसर पर वरिष्ठ व्यंग्यकार श्री श्रवण कुमार उरमलिया को " शांति-गया स्मृति शिखर सम्मान" से सम्मान निधि,सम्मान पत्र एवम शाल श्रीफल प्रदान कर किया गया। इस अवसर पर कृति सम्मान से जिन साहित्यकारों को सम्मानित किया गया उनमें थे डॉ गोपाल नारायण आवटे,डॉ स्नेहलता पाठक,श्रीमती गीता कैथल,श्री सुरेंद्र नायक,श्री किशोर श्रीवास्तव,श्री देवीसहाय पांडेय, श्री रामकिशोर उपाध्याय,प्रीति अग्रवाल,श्री विजय राठौर, श्री गोकुल सोनी,श्री अनिल वर्मा,सैय्यद जलालुद्दीन, श्री बी जी जोशी का सम्मान किया गया। साहित्य खेल समाज सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। 

इस अवसर पर प्रख्यात व्यंग्यकार डॉ नरेंद्र कोहली जी ने समाज को सही दिशा देने के लिए व्यंग्य की महत्वपूर्ण भूमिका का उल्लेख करते हुए ,इसे आज की बहुत बड़ी आवश्यकता बताया। उन्होंने इस कार्यक्रम के आयोजक अरुण अर्णव खरे को ह्रदय से बधाई देते हुए कहा कि अपने माता पिता की स्मृति में जो पुरस्कार स्थापित किया है ,उसके लिए बहुत बहुत बधाई,जो अपने माता-पिता को स्मरण कर उनकी स्मृति में यह आयोजन कर रहे हैं ,इस महत्वपूर्ण अवसर पर नगर के अनेक प्रतिष्ठित नागरिक व साहित्यकार उपस्तिथ थे।
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com