विदिशा में पंडाल गिरा, कथावाचक सहित 30 श्रृद्धालु घायल

03 June 2018

विदिशा। जिले के गंजबासौदा के पास स्थित ग्राम त्योंदा में चल रही सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन शनिवार को बारिश के बाद आई तेज आंधी से विशाल पंडाल धराशायी हो गया। इस दुर्घटना में कथावाचक पं. अभिषेक कृष्ण शास्त्री सहित करीब 30 श्रद्घालु घायल हो गए। उधर घटना के बाद त्योंदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक उपलब्ध न होने से ग्रामीणों ने नारेबाजी शुरु कर दी। बाद में मौके पर पहुंचे एसडीएम सीपी गोहल ने अपने एवं तहसीलदार के वाहन से घायलों को ग्यारसपुर एवं गंजबासौदा अस्पताल पहुंचाया। बाद में पूर्व विधायक हरिसिंह रघुवंशी ने भी अस्पताल पहुंचकर घायलों के हाल-चाल जाने।

ज्ञात हो कि ग्राम त्योंदा में गत 29 मई से सात दिवसीय भागवत कथा शुरु की गई थी। जिसका वाचन प्रसिद्घ कथावाचक अभिषेक कृष्ण शास्त्री द्वारा किया जा रहा था। इस कथा के लिए तालाब के पास विशाल पंडाल लगाया गया था और कथा का धार्मिक चैनल पर प्रसारण भी करवाया जा रहा था। कथा में प्रतिदिन आसपास के गांवों के हजारों श्रद्घालु शामिल हो रहे थे।

घायलों में महिलाएं, बच्चे और वृद्ध


आज दोपहर में मौसम खराब हो गया था और करीब साढ़े तीन बजे कथा के दौरान बारिश शुरु हो गई। जिससे पंडाल से बाहर खड़े श्रद्घालु पंडाल में आ गए थे और पंडाल पूरी तरह भर गया था। इसके बाद अचानक तेज आंधी शुरु हो गई। जिससे खेत में लगा पंडाल श्रद्घालुओं के ऊपर धराशायी हो गया। घटना के बाद ग्रामीणों ने पंडाल में दबे श्रद्घालुओं को बाहर निकाला और उन्हें तुरंत गांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया। इन घायलों में महिलाएं, बच्चे और वृद्घ भी शामिल थे।

अधिकारियों ने अपने वाहनों से घायलों को भेजा विदिशा, गंजबासौदा

लेकिन स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ तीन चिकित्सकों में से एक भी चिकित्सक उपलब्ध नहीं था और ऐसे में मात्र एक स्टाफ नर्स ने ही घायलों को किसी तरह उपचार दिया। इस अव्यवस्था के चलते ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दी। इस बीच सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसडीएम सीपी गोहल ने ग्रामीणों को समझाइश दी और फिर अपने वाहन से चार गंभीर घायलों को ग्यारसपुर भेजा। जहां से उन्हें उच्च उपचार के लिए विदिशा रेफर कर दिया गया। उधर चार बच्चों को त्योंदा तहसीलदार के वाहन से गंजबासौदा अस्पताल भेजा गया।

अनुपस्थित DOCTORS के खिलाफ बनाया पंचनामा,  भेजी रेस्क्यू टीम


इसके अलावा एसडीएम श्री गोहल ने नगर से एक रेस्क्यू टीम भी बुलवाई। जिसमें एक चिकित्सक सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी शामिल थे। इस टीम ने त्योंदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती घायलों को उपचार दिया। इस बीच पूर्व विधायक हरिसिंह रघुवंशी भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी लेकर घायलों का हालचाल जाना। इस दौरान पूछताछ में पता चला कि त्योंदा स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ चिकित्सक भोपाल, विदिशा और गंजबासौदा में रहते हैं। इनमें से एक भी चिकित्सक आज उपस्थित नहीं थे। जिस पर एसडीएम के निर्देश पर पंचनामा बनवाया गया। जिसे वरिष्ठ अधिकारियों को भेजा जाएगा।

SDM  ने कहा 20 घायल हुए

पंडाल धराशायी होने की घटना में करीब 20 श्रद्घालु घायल हुए थे। इनमें से 4 घायलों को विदिशा और 4 को गंजबासौदा अस्पताल भेजा गया है। जबकि शेष को त्योंदा में ही प्राथमिक उपचार दिया गया। बाद में एक चिकित्सक के साथ रेस्क्यू टीम भी त्योंदा भेजी गई है। उधर त्योंदा स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक उपस्थित न होने की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों से की जा रही है।
सीपी गोहल, एसडीएम गंजबासौदा

ये रही 30 घायलों की लिस्ट


गंजबासौदा। कथा स्थल पर पंडाल गिरने से घायल हुए श्रद्घालुओं में बासौदा निवासी रजनी शर्मा 43 वर्ष, सरदारसिंह 60 वर्ष, ढोलबाज निवासी रामस्वरुप गुर्जर 62 वर्ष, त्योंदा निवासी उमेदी कुशवाह 45 वर्ष, रीछई निवासी ग्यारसीबाई अहिरवार 62 वर्ष, खामखेड़ा निवासी राजू अहिरवार 3 वर्ष, खामखेड़ा निवासी बाबूलाल अहिरवार 10 वर्ष, खिरिया निवासी लक्ष्मी दांगी 9 वर्ष, त्योंदा निवासी रानी पंथी 18 वर्ष, त्योंदा निवासी राजू पंथी 30 वर्ष, नया गांव निवासी गोमतीबाई सेन 30 वर्ष, त्योंदा निवासी माधो कुर्मी 55 वर्ष, रसूलपुर निवासी सोमतसिंह कुशवाह 38 वर्ष, नया गांव निवासी सेजल शर्मा 10 वर्ष, सविता सेन 25 वर्ष, अनुराधा सेन 10 वर्ष, त्योंदा निवासी रामबाबू साहू 22 वर्ष, खिरिया निवासी खेमराज शर्मा 38 वर्ष, कजरई निवासी पूरन 70 वर्ष, सिलारपुर निवासी कल्याण गुर्जर 24 वर्ष, सिरनोटा निवासी आशाराम कुशवाह 36 वर्ष, नोरजा निवासी मोनिका अहिरवार 24 वर्ष, रसूलपुर निवासी ताराबाई कुशवाह 60 वर्ष, सुमेर दांगी निवासी ऊधमसिंह लोधी 70 वर्ष, त्योंदा निवासी मोहरबाई कुशवाह 36 वर्ष, पूनम कुशवाह 26 वर्ष, रिया कुशवाह 10, गुदावल निवासी सुरेश कुशवाह 55 वर्ष, खामखेड़ा निवासी दुर्गा अहिरवार 26 वर्ष शामिल हैं। हांलाकि कथावाचक अभिषेक कृष्ण शास्त्री भी इस दुर्घटना में घायल हुए थे, लेकिन उन्हें मामूली चोटें ही आईं।
BHOPAL SAMACHAR | HINDI NEWS का 
MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए 
प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week