Loading...

100 से ज्यादा नर्सिंग छात्राओं का रेप कर चुका था डॉक्टर, एक ने भी शिकायत नहीं की

जबलपुर। चिकित्सा विभाग में डिप्टी डायरेक्टर डॉक्टर शफात उल्लाह खान हत्याकांड की कहानी के साथ एक बड़ा खुलासा भी हुआ है। डॉ. शफात उल्लाह की पत्नी ने इकबालिया बयान में बताया कि शफात उल्लाह नौकरी के लिए अप्लाई करने वाली नर्सिंग छात्राओं का यौन शोषण करता था। इतना ही नहीं वो छात्राओं को इस बात के लिए भी तैयार करता था कि वो चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ शारीरिक संबंध बनाए। इस गंदे खेल के लिए वो कलचुरी होटल का उपयोग करते थे। स्वभाविक है होटल संचालक भी सब जानता था। यह सबकुछ पिछले कई सालों से चल रहा था। 

गौरतलब है कि ओमती थानान्तर्गत भंवरताल गार्डन के सामने स्थित कृतिका अपार्टमेंट में रहने वाले डॉ शफात उल्लाह खान उम्र 55 वर्ष की मंगलवार की शाम को घर में घुसकर दो नकाबपोश युवकों ने बेहरमी के साथ हत्या कर दी थी। डॉ खान ज्वाइंट डायरेक्टर कार्यालय में डिप्टी डायरेक्टर के पद पर पदस्थ थे। आरोपियों ने डॉ खान के सीने पर धारदार हथियार से आधा दर्जन प्रहार किये थे। इसके बाद हाथ की कलाई व गला रेत दिया था। आरोपी ने घर में उपस्थित उनकी पत्नि, बेटी तथा रिश्ते के नाती को कमरें में बंद करने के बाद वारदात को अंजाम देते हुए पार्किग में रखी एक्टिवा लेकर फरार हो गये थे।

GUJARAT से हायर किए थे KILLERS

पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला ने बताया कि डॉ खान की हत्या की साजिश उनकी पत्नि आयशा खान ने रची थी। दोनों ने वर्ष 1991 में प्रेम विवाह किया था, इसके बावजूद भी दोनों में तनाव रहता था। तनाव व झगड़े का मुख्य कारण डॉक्टर की चरित्र था। डॉक्टर खान को रास्ते को हटाने के लिए उसने दुआ गुजरात निवासी अपनी भतीजी नंदिनी उर्फ जन्नत से फोन पर बात की थी। नंदिनी ने अपने पति पवन विश्वकर्मा को इस संबंध में बात की थी। पवन ने अपने साथ फैक्टरी राजेन्द्र मालवीय व धीरज को साजिश में शामिल किया। 

CCTV कैमरे में कैद हुई थी हत्या 

नंदिनी उसका पति व दोनोें साथी 12 जून को जबलपुर पहुॅचे थे। दिन में डॉक्टर की पत्नि आयशा ने उनसे टैगौर गार्डन में मुलाकात की थी। इस दौरान आयशा ने दोनों लड़कों को दस हजार रूपये दिये थे तथा काम होने पर 50-50 हजार रूपये देने की बात कहीं थी। आयशा ने नंदिनी को 5 लाख रूपये तथा एक फ्लैट देने की बात कहीं थी। इसी दिन शाम को दोनों युवकोे ने डॉक्टर के घर पहुॅचकर उसकी बेहरमी से हत्या कर दी। लूट के उद्देश्य से हत्या की गयी है ऐसा दिखाने के लिए आलमारी में रखे दस हजार रूपये नगद तथा जेवरात भी आरोपी अपने साथ ले गये थे। सीसीटीव्ही कैमरे में एक युवक कैद हुआ था जो दोनों को निर्देश दे रहा था।

भतीजी के गलत बयान ने खोल दिया राज

पूछताछ के दौरान आयशा की भतीजी नंदिनी उर्फ जन्नत ने पुलिस को बताया था कि वह घटना दिनांक को दुआ गुजरात में थी। जांच में पाया गया कि घटना दिनांक को वह जबलपुर में थी। जिसके बाद उसे अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गयी तो उसने पूरे घटनाक्रम का खुलासा कर दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी रेलवे स्टेशन पहुॅचे थे ओर एक्टिवा स्टेशन में खड़ी कर ट्रेन से कटनी पहुॅचे थे। कटनी से आरोपी इंदौर के लिए रवाना हुए थे। पुलिस ने हत्या में शामिल बुआ-भतीजी के अलावा राजेन्द्र मालवीय उम्र 23 वर्ष को उसके गृह ग्राम बिसनखेड़ी थाना इच्छावर जिला सुजालपुर से गिरफ्तार कर लिया है। दो अन्य फरार आरोपियों की तलाश जारी है।

हिंदू थी DOCTOR की पत्नी, LOVE MARRIAGE के बाद धर्म परिवर्तन किया

हत्या के आरोप में गिरफ्तार आयशा ने बताया कि हिन्दु होने के बावजूद भी उसने डॉ शमान उल्लाह खान से शादी की थी। उसका पति शोषण करने वाला था, पिछले 27 साल में इसी वर्ष पहली बार कपड़े खरीदने के लिए पांच हजार रूपये दिये थे। 

नर्सों को JOB के नाम पर वो और उसके वरिष्ठ अधिकारी यौन शोषण करते थे

आरोपी पत्नि ने बताया कि उसके पति के बाहर कई महिलों से संबंध थे। नर्से की नौकरी दिलवाने के नाम पर उसके पति व उनके वरिष्ठ अधिकारी ने कलचुरी होटल में बुलाकर कई युवतियों का शोषण किया। 

11 वर्षीय भतीजी को गर्भवती कर दिया

इतना ही नहीं जब वह तीसरी बाद गर्भवती हुई थी तो भतीजी नंदिनी उर्फ जन्नत उसके साथ रहने आई थी। उस समय जन्नत की उम्र 11 वर्ष थी। उसके पति ने मासूम भतीजी तक को नहीं बख्सा था। उसने 11 वर्षीय मासूम बच्ची को गर्भवती बना दिया था। 

बेटे के लालच में 7 बार लिंग परीक्षण कराया

पहली दो बेटियां होने के कारण उसके पति ने सात बार अनैतिक तरीके से लिंग जांच कर गर्भपात करवाया था। लिंग जांच तथा गर्भपात करने वाले डॉक्टरों के नाम का खुलासा भी आरोपी महिला ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए किया है।

रावण था वो, हत्या नहीं वध किया है

आरोपी पत्नि ने बताया कि उसके पति की गलत नजर अपने बेटी सैफी पर थी। रात को दो बजे उसके कमरे में जाकर उसे लिपट जाता था। बात घर की इज्जत की थी तो उसने पति को लिंग काटने के लिए सुपारी दी थी। नंदिनी के साथ जो हुआ था उसे जाकर उसके पति ने लिंग काटने की बजाये डॉक्टर कर हत्या करवा दी। भतीजी के साथ जब उसने पति के गलत कृत्य किया था जो वह इसलिए खामोश हो गयी क्योकि दो छोटी बेटियां थी और बेटा गर्भ में था। उसने कहा कि जिस तरह राम भगवान ने रावण को मार था, ठीक उसी तहत उसने एक पापी का वध किया है।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com