अध्यापकों ने सांसद को घेरा, सांसद ने सीएम को फोन लगाया

15 May 2018

मंडला। आजाद अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष संतोष सोनी के नेतृत्व में राज्यसभा सांसद संपतिया उइके के हाउस में अध्यापकों ने डेरा डालो कार्यक्रम को अंजाम दिया। इस डेरा डालो कार्यक्रम मैं अध्यापक संवर्ग के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ अध्यापक ने अपना मोर्चा खोला। जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप हमें शिक्षा विभाग में संविलियन के आदेश जारी नहीं किए जा रहे हैं। जिसका अध्यापक में गहरा रोष है। शासन में बैठे कुछ अधिकारियों की मनमानी की वजह से सरकार का नाम बदनाम हो रहा है। यह सरकार केवल घोषणाओं की सरकार है। लोकतंत्र में मुखिया की बात का कोई मोल नहीं है तो आम नागरिक कितना सुखी होगा इसकी कल्पना करना मुश्किल है।

राज्य सभा सांसद ने क्या कहा  
राज्यसभा सांसद श्रीमती संपतिया उइके ने मुख्यमंत्री की घोषणा पर अमल ना होने पर गहरा रोष व्यक्त किया एवं अध्यापकों के साथ हो रहे भेदभाव को लेकर काफी चिंतित दिखाई पड़ी। उन्होंने तत्काल कार्यवाही करते हुए माननीय मुख्यमंत्री महोदय को फोन लगाया माननीय मुख्यमंत्री महोदय से फोन में वार्तालाप पर मुख्यमंत्री जी ने कहा की आजाद अध्यापक संघ के सभी सदस्य एवं अध्यापक जिलाध्यक्ष संतोष सोनी के नेतृत्व में मेरे घर पर डेरा डाले हुए हैं  आप इनके आदेश शीघ्र जारी करें। मुख्यमंत्री महोदय ने आश्वस्त किया है कि हम शीघ्र ही आदेश कर रहे हैं। मैडम ने स्पष्ट कहा कि आप इनके आदेश शीघ्र करें यह हमारे जिले के कर्मचारी हैं।

आजाद अध्यापक संघ ने दी चेतावनी
आजाद अध्यापक संघ के प्रांतीय आह्वान पर जनप्रतिनिधियों के यहां डेरा डालो घेरा डालो का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। निर्णय के अनुसार जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि 20 मई तक यदि आदेश जारी नहीं होते 24 मई को माननीय मुख्यमंत्री स्वागत यात्रा के रुप में प्रदेश भर के लाखों अध्यापक भोपाल मुख्यमंत्री निवास की ओर कूच करेंगे।

आजाद अध्यापक संघ की प्रमुख सचिव के साथ हुई थी बैठक
प्रांताध्यक्ष भरत पटेल जी के नेतृत्व में विगत दिवस 10 मई को भोपाल में मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल जी से बातचीत के दौरान वर्णवाल जी ने अध्यापक संवर्ग के लिए शिक्षा विभाग में एक अलग कैडर बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि हम शिक्षा विभाग में संविलियन कर प्राथमिक शिक्षक माध्यमिक शिक्षक एवं उच्च शिक्षक के पद पर आप का संविलियन कर रहे हैं। प्रांताध्यक्ष ने सिरे से खारिज करते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार आप शिक्षा विभाग में शिक्षक, सहायक शिक्षक ,एवं व्याख्याता के पद पर ही संविलियन करें। हमें यह कतई स्वीकार नहीं। जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने कहा कि शिक्षक संवर्ग की पदोन्नति का मामला आपके विभाग का है इसका अध्यापक संवर्ग से कोई लेना-देना नहीं हमें हमारा शिक्षा विभाग ही चाहिए इससे कम कुछ नहीं।

यह रहे शामिल
सीमा राजपूत  कविता विश्वकर्मा आराधना कछवाहा अनीता सिंह  संगीता साहू गीतांजलि  मरावी रश्मि साहू अंजली बरमैया चांदनी चांदनी नंदा  सुषमा सिंगौर सघनबती धूमकेती संजीव वर्मा सागर पटेल दीपक कछवाहा अनिल बहाने संतोष मरकाम सतीश मिश्रा विपत यादव सतीश मिश्रा तुलसी बंदेवार हसरत कुरेशी दिनेश कांड्रा संजय तिवारी बिछिया ब्लॉक अध्यक्ष सेवन मरकाम मोहगांव ब्लॉक अध्यक्ष जोधसिंह धुर्वे गौरी शंकर झारिया  इंद्रेश तिवारी हेमंत मरावी शिवरतन सौयाम शैलेश चोकसे प्रमोद दुबे ,शिवनारायण पटेल , प्रशांत पटेल,नरेश नंदा, राजेन्द्र झरिया,बुधराम डिबारिया, शम्भू मरकाम,सुकल सिंह मरावी ,राजेश्वर पटेल,गंगाराम मार्को,महादेव झरिया अवधेश मार्को,,संतोष गयकवाल,कमलेश भावरे, सुभाष यादव   प्रहलाद भारतीया निशांत यादव विशन सिंह वरकडे संतोष गायकवाल आनंद सरजीत ठाकुर मरकाम दिगंबर आर्मी गणेश सिरसाम, जगदीश मरावी,बाज़ारी लाल यादव,नरबद मरावी,रमेश मार्को आशीष झरिया सुनील पटेल योगेंद्र ठाकुर, सीबी धनगर,नरबद मरावी,रामदयाल वरकड़े ,भारत विक्रम  रमेश मरावी पाल सिंह पूसाम कुँवर परते सुखचैन मरावी अनिल जंघेला संजीव पारधी संजय ठाकुर देवेन्द्र मर्सकोले सुरेश पटेल लक्ष्मी मरकाम नरेश चौधरी संतोष मर्सकोले डुमरा लाल यादव अंजली बरमैया चाँदनी बरमैया दिनेश अर्जुनवार निवास ब्लॉक से ,अर्जुन सरौते,सुरेश मरावी,रतन मरावी,ओमकार कुलस्ते बसंत मिश्रा,संतोष बर्मन,मुरली परस्ते,नारेन्द मरावी,चौधर मार्को,ओमप्रकाश द्विवेदी, घनश्याम चौकसे,स्वपनेष तिवारी,बीरन मरावी,रविन्द्र बरकडे,बलमत कुशराम,बिनोद ठाकुर,देवेन्द्र मरकाम, आदि सैकड़ों की संख्या में अध्यापक उपस्थित रहे।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week