तेलंगाना की TRS से भी छोटी हो गई कांग्रेस, मात्र 2.5 प्रतिशत जनता का प्रतिनिधित्व

15 May 2018

नई दिल्ली। कर्नाटक विधानसभा चुनावों के नतीजे सामने आने के बाद राज्य विधानसभा की तस्वीर साफ हो गई है और कांग्रेस अब केवल तीन राज्यों में सिमट कर रह गई है। इसमें भी एक राज्य ऐसा है, जिसमें इसी साल के अंत तक चुनाव होने हैं। ऐसे में कांग्रेस अब केवल एकमात्र पूर्ण राज्य पंजाब में रह गई है। इसके अलावा केंद्र शासित पुडुचेरी में भी उसकी सरकार है। पूर्वोत्तर के छोटे राज्य मिजोरम में भी कांग्रेस है, लेकिन वहां पर कांग्रेसी सरकार का कार्यकाल इसी साल पूरा हो जाएगा।

पंजाब, पुडुचेरी और मिजोरम तीनों राज्यों की बात करें तो इन राज्यों की आबादी देश की कुल आबादी का 2.5 फीसदी भी नहीं है। यानी कांग्रेस अब देश की आबादी के 2.5 फीसदी से भी कम हिस्से पर शासन कर रही है। देश की आबादी पर शासन करने के मामले में कांग्रेस से कहीं आगे छोटे और क्षेत्रीय दल हैं। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके), तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) भी इस मामले में कांग्रेस से आगे हैं।

मात्र 2.5 फीसदी पर सिमटी कांग्रेस

2011 की जनगणना के मुताबिक भारत की कुल आबादी करीब 1.22 अरब है। पंजाब की आबादी 2.78 करोड़ है। यह देश की कुल आबादी का 2.30 फीसदी बैठता है। पंजाब में पिछले साल ही विधानसभा चुनाव हुए थे और 117 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस को 77, आम आदमी पार्टी को 20 और शिरोमणि अकाली दल को 15 सीटें मिली थीं। केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी की आबादी 12.45 लाख है। यह देश की कुल आबादी का .11 फीसदी बैठता है। यहां पर 2016 में चुनाव हुए थे और 30 सीटों वाले राज्य में कांग्रेस को 15 सीटें मिली थीं। कांग्रेस शासित मिजोरम की आबादी 10.91 लाख है, जो देश की आबादी का .091 फीसदी है। यहां पर इस इस साल के अंत तक चुनाव हो सकते हैं। तीनों राज्यों की आबादी का योग देश की कुल आबादी का 2.5 फीसदी बैठता है।

इन दलों से बुरी स्थिति में है कांग्रेस
कांग्रेस के मुकाबले कई अन्य क्षेत्रीय दल बड़े राज्यों में सरकार में हैं। इनमें टीएमसी, एआईएडीएमके, टीडीपी और टीआरएस जैसी पार्टियां भी शामिल हैं। कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती अब 2019 के चुनावों की होगी। लगातार कम राज्यों में सिमटती जा रही कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनावों में जनता के बीच किस रणनीति को लेकर उतरती है, यह देखना दिलचस्प होगा।

पश्चिम बंगाल में TMC
पश्चिम बंगाल में टीएमसी सरकार में है। इस राज्य की आबादी 9.14 करोड़ है। यह देश का चौथा सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य है। यहां की आबादी देश की कुल आबादी का 7.55 फीसदी है। यानी देश की आबादी के हिस्से पर शासन करने के मामले में कांग्रेस अब तृणमूल कांग्रेस से पीछे है।

तमिलनाडु में AIADMK
एआईएडीएमके इस समय तमिलनाडु में सत्ता में है। तमिलनाडु की आबादी 7.22 करोड़ है. यह देश का छठा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला राज्य है। यहां देश की कुल आबादी के 5.97 फीसदी लोग रहते हैं।

आंध्र प्रदेश में TDP
आंध्र प्रदेश में टीडीपी की सरकार है। इस राज्य की आबादी 4.94 करोड़ है और जनसंख्या के हिसाब से यह देश का दसवां सबसे बड़ा राज्य है। यहां देश की कुल आबादी का 4.09 फीसदी हिस्सा रहता है।

तेलंगाना में TRS
तेलंगाना में टीआरएस सत्ता में है। यह आबादी के लिहाज से देश का 12वां सबसे बड़ा राज्य है। राज्य की आबादी 3.52 करोड़ है। यह देश की कुल आबादी का 2.91 फीसदी बैठता है और देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस अब इससे भी कम आबादी पर शासन कर रही है।
(जनसंख्या के सभी आंकड़े 2011 की जनगणना के अनुसार दिए गए हैं।)

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->