भाजपा विधायक के भतीजे के साथ रिसोर्ट आई युवती की संदिग्ध मौत

Monday, May 21, 2018

जबलपुर। भाजपा विधायक अंचल सोनकर के भतीजे सिद्धार्थ सोनकर के साथ कोकिला रेसोर्ट्स आई एक युवती की संदिग्ध मौत हो गई। उसका शव रिसोर्ट के कमरे में फांसी पर झूलता मिला। सिद्धार्थ का कहना है कि युवती उसकी मंगेतर है। 2 माह बाद उनकी शादी होने वाली थी। यह नहीं बताया कि शादी से पहले वो रिसोर्ट में क्या करने आए थे। युवती के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। मृत युवती के परिजन काफी आक्रोशित हैं। पुलिस जांच कर रही है। 

घटना जबलपुर के तिलवारा थाना अंतर्गत कोकिला रेसोर्ट्स की है। भाजपा विधायक अंचल सोनकर का भतीजा सिद्धार्थ सोनकर एक युवती को लेकर रिसोर्ट पहुंचा। बताया कि यह उसकी मंगेतर है। कु्छ देर बाद सिद्धार्थ कमरे से बाहर निकल आया और रिसेप्शन पर आकर पानी मांगा। पानी लेकर वो अपने कमरे की तरफ गया और फिर तेजी से लौटकर आया। उसने मैनेजर को बताया कि कमरा अंदर से बंद है। मैनेजर ने दूसरी चाबी से कमरा खुलासा तो अंदर युवती का शव फांसी पर लटका हुआ था। बताया जा रहा है कि इसी युवती से 2 महीने बाद सिद्धार्थ की शादी होने वाली थी। 

घटना की जानकारी लगते ही युवती और युवक के परिजन होटल पहुंच गए। युवती के परिजन युवक पर आक्रोषित हो गए और उसके साथ मारपीट करने का प्रयास किया। हालांकि पुलिस की मौजूदगी में मारपीट नहीं हो पाई लेकिन काफी देर तक हंगामा चलता रहा। फोरेंसिक टीम ने होटल पहुंचकर शव को फांसी के फंदे से नीचे उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

युवती के परिजनों ने सिद्धार्थ के घर पर तोड़फोड़ की

वहीं दूसरी ओर युवती के परिजनों ने युवक के भरतीपुर स्थित घर पर धावा बोल दिया और जमकर तोड़फोड़ की। घटना के बाद बने हालातों को देखते हुए युवक और युवती दोनों के घर पर पुलिस का पहरा लगा दिया। पुलिस अभी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रही है। अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले की गंभीरता के साथ जांच की जा रही है। जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि युवती ने आत्महत्या क्यों की।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah