MORENA बंद में 150 पॉलिटेक्निक छात्र संदेह की जद में | MP NEWS

Friday, April 6, 2018

मुरैना। दो अप्रैल को मुरैना बंद के दौरान बाजार से लेकर रेलवे ट्रैक पर हुए उपद्रव का नेतृत्व करने के लिए पॉलिटेक्निक हॉस्टल के 150 छात्रों की भूमिका उजागर हुई है। कानून-व्यवस्था को कड़ी चुनौती देने वाली इस वारदात के आरोपियों को नामजद करने के मामले में पुलिस व प्रशासन ने घटना के चार दिन बाद भी गंभीरता नहीं दिखाई है। पॉलिटेक्निक के सीसीटीवी फुटेज इस बात के गवाह हैं कि दो अप्रैल की सुबह 10.30 से 11.30 बजे के बीच चार बाहरी लोग पॉलिटेक्निक हॉस्टल पहुंचे थे। जिनमें से दो युवक बाइक पर सवार थे दो साइकिल पर बैठकर हॉस्टल पहुंचे थे। 

इन चार युवकों के हॉस्टल पहुंचने के पांच से दस मिनिट के बाद ही तीनों हॉस्टल 150 से अधिक छात्र लाठी, डंडे व सरिए लेकर अंबाह तिराहे होकर रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए थे। इन छात्रों ने भीड़ का नेतृत्व किया और पुलिस पर पथराव से लेकर फायरिंग तक कराई। पॉलिटेक्निक प्रशासन ने दो अप्रैल के घटनाक्रम में हॉस्टल के छात्रों के शामिल होने के तथ्य को मय सबूतों के प्रशासन के समक्ष पेश किया है, लेकिन पुलिस ने अभी तक हॉस्टल के छात्रों को आरोपी नहीं बनाया है। वीडियो फुटेज में छात्रों के हाथों में नीले व सतरंगी झंडे दिखाई दे रहे हैं।

भिंड के पूर्व जपं अध्यक्ष के पति सहित 10 लोगों पर एक लाख का इनाम
सोमवार को भारत बंद के नाम पर हिंसा फैलाने वालों पर प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। एसपी प्रशांत खरे ने भिंड की पूर्व जनपद अध्यक्ष संजू जाटव के पति गजराज जाटव के अलावा मछंड और मेहगांव में हत्या के नौ आरोपियों पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित कर दिया। कलेक्टर ने जिले के सभी शस्त्र लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं और हथियार संबंधित थानों में जमा करने के आदेश दिए हैं। 

जिले में हुई हिंसा के बाद अब पुलिस उपद्रवियों पर शिकंजा कस रही है। 100 से अधिक नामजद और चार हजार के करीब अज्ञात आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न थानों में मामले पंजीबद्ध किए हैं। गुरुवार को गोहद में 30 से अधिक उपद्रवियों को पुलिस ने उठाया। भिंड शहर में भी लोगों को पकड़ा जा रहा है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week