विधायकों को नहीं बचा पाए केजरीवाल, राष्ट्रपति ने मुहर लगाई | NATIONAL NEWS

Sunday, January 21, 2018

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार को राष्ट्रपति से भी बड़ा झटका लगा है। ELECTION COMMISSION के बाद राष्ट्रपति (PRESIDENT OF INDIA) ने भी आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया है। बता दें कि चुनाव आयोग ने OFFICE OF PROFIT के मामले में दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (ARVIND KEJRIWAL) के 20 MLA को अयोग्य ठहरा दिया था। इससे पहले आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि मुख्य चुनाव आयुक्त ए के ज्योति अपने रिटायरमेंट से पहले सारे पेंडिंग केस खत्म करना चाह रहे हैं, इसलिए आयोग फटाफट पुराने मामलों का निपटारा कर रहा है। वह 22 को रिटायर हो जाएंगे। हालांकि सत्ताधारी पार्टी का कहना है कि चुनाव आयोग इसका फैसला नहीं कर सकता, इसका फैसला अदालत में किया जाना चाहिए। पार्टी ने कहा कि विधायकों का पक्ष नहीं सुना गया।

आप पार्टी की दिल्ली सरकार ने मार्च 2015 में 21 विधायकों को संसदीय सचिव के पद पर नियुक्त किया जिसको लेकर प्रशांत पटेल नाम के वकील ने लाभ का पद बताकर राष्ट्रपति के पास शिकायत करते हुए इन विधायकों की सदस्यता खत्म करने की मांग की थी. हालांकि विधायक जनरैल सिंह के पिछले साल विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद इस मामले में फंसे विधायकों की संख्या 20 हो गई थी.

ये हैं AAP के 20 विधायक
1. प्रवीण कुमार
2. शरद कुमार
3. आदर्श शास्त्री
4. मदन लाल
5. चरण गोयल
6. सरिता सिंह
7. नरेश यादव
8. जरनैल सिंह
9. राजेश गुप्ता
10. अलका लांबा
11. नितिन त्यागी
12. संजीव झा
13. कैलाश गहलोत
14. विजेंद्र गर्ग
15. राजेश ऋषि
16. अनिल कुमार वाजपेयी
17. सोमदत्त
18. सुलबीर सिंह डाला
19. मनोज कुमार
20. अवतार सिंह

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week