महिला डॉक्टर ने लड़की को गुलाम बना रखा था: DCW | CRIME NEWS

Sunday, January 14, 2018

नई दिल्ली। दिल्ली महिला आयोग (DELHI WOMEN COUNCIL) ने मॉडल टाउन से एक लड़की को मुक्त कराया है। यह लड़की नाबालिग है और झारखंड की रहने वाली है। DCW की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद के अनुसार मुक्त हुई लड़की ने उन्हे बताया है कि एक प्लेसमेंट ऐजेंसी के माध्यम से उसे महिला डॉक्टर Dr. NIDHI के यहां घरेलू काम करने के लिए भेजा गया था परंतु यहां महिला DOCTOR ने उसे गुलाम (SLAVES) बना लिया। उसे पैसे नहीं दिए जाते थे। खाने को 2 बासी रोटी। डॉक्टर उसके चेहरे पर थूकती थी। गर्म प्रेस से जलाती और कई तरह की अमानवीय यातनाएं देती थी। 

पुलिस ने लेडी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है। आयोग की 181 हेल्पलाइन पर शुक्रवार को इस बारे में कॉल आई। DCW की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद (SWATI JAIHIND CHAIRMAN DCW) के नेतृत्व में एक टीम लड़की के पास पहुंची। लड़की ने इन्हें बताया कि उसे काम के बदले पैसे नहीं मिलते थे, खाने को दिन में सिर्फ दो बासी रोटियां मिलत थी। इस ठंड में न तो उसके पास स्वेटर था न कंबल। उसने आरोप लगाया कि मुझे गर्म प्रेस से जलाया जाता था। लड़की ने बताया, 'डॉक्टर मुझ पर गर्म पानी फेंकती थीं।' लड़की के शरीर पर घाव भी देखने को मिले। आरोप है कि उसकी आंखों में कैंची भी मारी गई। पुलिस ने जेजे ऐक्ट के तहत केस दर्ज कर डॉक्टर निधि को अरेस्ट कर लिया। वह डेंटिस्ट हैं। स्वाति ने कहा कि लड़की की पूरी मदद की जाएगी। 

मार से लड़की के हाथ काले पड़ गए, उनमें जख्म भी हैं। आंखों में सूजन, चेहरे पर कट के निशान से वह तड़प रही थी। यह 14 साल की बच्ची पिछले चार महीने से रोजाना यातनाएं झेल रही थी। नाबालिग की कहानी से किसी की भी रूह कांप उठे, लेकिन डॉक्टर महिला को जरा भी फर्क नहीं पड़ता था। दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके से महिला डॉक्टर की चंगुल से आजाद होने के बाद नाबालिग बच्ची ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया, 'मेरी मालकिन मुझे रोज बुरी तरह पीटती थी। मालकिन मुझे गुस्से में काटती भी थी। उन्होंने मुझे कैंची से काटा, आंख पर मारा, मेरी आंखें सूजी हुई है। बहुत दर्द होता है।'

लड़की ने रोते हुए कहा कि मालकिन ने कई बार गला भी दबाया। यही नहीं, एक दिन पहले मालकिन गुस्से में उसके ऊपर बैठ गई और कई बार सिर पर वजन तोलने वाली मशीन से वार किया। नाबालिग ने बताया कि महिला उसके ऊपर थूकती थी और अपने बच्चों से भी ऐसा करवाती थी। कई बार कई दिनों तक खाने को नहीं दिया जाता था। जब कभी मिला तो पुरानी-बासी रोटियां दी गईं। लड़की बुरी तरह से कुपोषण का शिकार थी। उसकी मालकिन इतनी सर्दी में भी उसको स्वेटर नहीं पहनने देती थी और रात में ओढ़ने को कंबल भी नहीं देती थी। उस लड़की के शरीर पर बने घाव और निशान इस बात की गवाही दे रहे थे कि उसके साथ किस तरह का जुल्म हुआ है। उसको घर में कैद करके रखा गया था और काम के पैसे भी नहीं दिए। 

चार महीने से थी 
इस लड़की को डॉक्टर के पास एक प्लेसमेंट एजेंसी के जरिए चार महीने पहले पहुंचाया गया था। झारखंड में उसका परिवार बेहद गरीबी में दिन काट रहा था। माता-पिता ने लड़की को कमाने के लिए शहर भेज दिया था। 

क्या लिखा स्वाती ने इस केस के बारे में
Received call on DCW Helpline 181 reg a girl being tortured by employer. We rescued the 14 year old Jharkhandi domestic maid from Model Town. Can't describe her condition! She was burnt, beaten, attacked with scissor, spat at & bitten by lady employer who is a doctor! Most evil! Little girl was so brave. Her lady employer so vicious. A doctor herself, how could she torture a 14 yr old in such brutal manner. Little girl was confined 2 house, not given sweater, food & hs been reduced 2 bones. Police arrested lady employer! Shud b given max punishment!

लड़की के हर अंग पे अमानवीय चोटें हैं। उसको बहुत ज़्यादा दर्द हुआ है। उसकी कोई गलती नही थी फिर भी उसको इतना मारा और जलाया गया। वो भी एक औरत ने जो न सिर्फ एक डॉक्टर है बल्कि दो बच्चों की मां भी है। सच में इंसान के रूप में शैतान हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week