बिना सरकारी मदद के मात्र 40 लाख में बना दी 100 किलोमीटर लंबी सड़क | SUCCESS STORY

Monday, December 25, 2017

नई दिल्ली (NATIONAL NEWS)। मैदानी इलाकों में सरकार सड़क बनाने के लिए 10 लाख रुपए प्रति किलोमीटर का खर्चा करती है। यदि यही सड़क पहाड़ पर बनाना हो तो सरकार कितना खर्चा करेगी, आप कल्पना भी नहीं कर सकते परंतु एक IAS ऑफिसर आर्मस्ट्रॉन्ग पेम ने बिना सरकारी मदद के सोशल मीडिया के माध्यम से पैसे जुटाए और मात्र 40 लाख रुपए 100 किलोमीटर लंबी सड़क बनाकर तैयार कर दी वो भी पहाड़ पर। अब यह सड़क मणिपुर को असम और नागालेण्ड से जोड़ती है। 

IAS ऑफिसर आर्मस्ट्रॉन्ग पेम जिन्होंने मणिपुर निवासियों की परेशानी समझी और बिना सरकार की मदद लिए 100 किलोमीटर लंबी सड़क तैयार कर दी। मणिपुर के दूरस्थ इलाके के दो गांव टूसेम और तमेंगलॉन्ग तक जाने के लिए सड़क नहीं थी, जिसकी सीधा असर जनजीवन पर पड़ रहा था। जिसे देखकर पेम ने सड़क बनाने की ठानी। 5 साल पहले मणिपुर के दो इलाके में सड़क न होने के कारण वहां के लोगों को काफी दिक्कतें होती थीं। वहीं अगर किसी की तबीयत खराब हो जाती थी तो उसे अस्पताल पहुंचाने के लिए बांस का छोटा सा स्ट्रेचर बनाना पड़ता था।


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ये सड़क मणिपुर को असम और नागालैंड से जोड़ती है। सरकार की ओर से मदद न मिलने के बाद पेम ने सड़क बनवाने के लिए फेसबुक के जरिए 40 लाख रुपये इकट्ठा किए। बता दें कि साल 2009 में परीक्षा पास करके पेम आईएएस बने और मणिपुर के टूसेम जिले में एसडीएम के पद पर उन्हें तैनाती मिली। सरकार की ओर से मदद ना मिलने के बाद उन्होंने सोशल मीडिया की मदद ली। लोगों ने इस पहल को उम्मीद से ज्यादा समर्थन दिया।

सड़क बनाने के लिए पेम ने भी अपनी ओर से 5 लाख रुपये दान किए और इतना ही नहीं उनके माता-पिता ने भी अपनी पेंशन से कुछ पैसे सड़क बनवाने के लिए दिए। कुछ ही दिनों में 40 लाख रुपयों का इंतजाम हो गया. जिसके सड़क 'पीपल्स रोड' तैयार हो गई। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week