नंदकुमार जी, देख लेना ये बेटी मध्यप्रदेश में क्या करती है: शशि कर्णावत

Wednesday, August 16, 2017

भोपाल। मप्र की सस्पेंडेड दलित महिला आईएएस शशि कर्णावत नंदकुमार सिंह को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा माननीय नंदकुमार चौहान को अध्यक्ष होने के नाते बताना चाहूंगी कि आप देवरी कलां में मेरे घर पर मेरे पिता के पैर छूकर आए थे और कहा था कि मासाब आप लोगों की ही बदौलत हम सत्ता में हैं। बता दें कि श्रीमती कर्णावत ने बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अपने घर भोजन का न्यौता दिया था लेकिन मप्र भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार चौहान ने उनका निमंत्रण ये कहकर ठुकरा दिया कि अगर बीजेपी अध्यक्ष किसी के घर भोजन करने जाएंगे तो वो पार्टी के अंदर का ही कार्यकर्ता होगा।

नंदकुमार चौहान के इस जबाब पर शशी कर्णावत ने उनकी यादाश्त को दुरुस्त करने की कोशिश की। उन्होंने नंदकुमार को याद दिलाया है कि कैसे उनका परिवार सालों से संघ और बीजेपी की सेवा करता आ रहा है और उनके घर में संघ प्रमुख सुदर्शन दो महीने तक रूके थे। 

माननीय नंदकुमार चौहान को अध्यक्ष होने के नाते बताना चाहूंगी कि आप देवरी कलां में मेरे घर पर मेरे पिता के पैर छूकर आए थे और कहा था कि मासाब आप लोगों की ही बदौलत हम सत्ता में हैं। डॉ. मगनलाल करण संघ के आदमी हैं, जो मीसाबंदी रहते हुए 19 महीने जेल में रहे हैं और पैराल पर भी नहीं आए थे। मेरे पिता संघ के कार्यालय में ही पले बढ़े हैं। मेरे नानाजी और ताऊजी भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थी। आज संघ में मेरी बहन झांसी में बौद्धिक प्रमुख है। जो भाजपा को सिखाती है। आप किस को संघ बोल रहे हैं, मैं संघ के बारे में अच्छे से जानती हूं। 

शशी कर्णावत ने नंदकुमार चौहान को याद दिलाया है कि पूर्व संघ प्रमुख स्वर्गीय सुदर्शन जी दो महीने मेरे घर पर रहे हैं। उन्होनें नंदकुमार चौहान को उस मुलाकात के बारे में बताते हुए बताया कि किस तरह उन्होनें उनके साथ हुए घटनाक्रम पर सहानुभूति दिखाई थी और कहा था कि आपके साथ अन्याय हुआ है। उन्होंने नंदकुमार चौहान से कहा है कि जब न्याय की बात आती है तो आप सब भूल जाते हैं।

शशी कर्णावत ने नंदकुमार चौहान से कहा है कि आप अगर इस बेटी को भूल रहे हैं, तो ये प्रदेश की हर बेटी को जगा-जगा के बता देगी कि इनके भ्रम में मत आना। आपको मैं याद दिला दूं कि मैंने इसलिए भोजन का निमंत्रण दिया कि एक बेटी का पेट काट सकते हैं, उसको भूखों मरने पर विवश कर सकते हैं, लेकिन बेटी का दिल इतना बड़ा है कि आधी रोटी में से भी आपको रोटी खिलाएगी। यदि मेरे विरूद्ध आवाज उठाने की कोशिश की तो देख लेना कि ये बेटी मध्यप्रदेश में क्या करती है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...
 
Copyright © 2015 Bhopal Samachar
Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah