Loading...

पति की मारपीट से बचने जहां शरण ली, वहां साल भर तक गैंगरेप हुआ

भोपाल। जिंदगी में प्यार और सुरक्षा पाने के लिए जिससे शादी की, उसने जानवरों की तरह पीटना शुरू कर दिया। पति की मारपीट से बचने के लिए जहां शरण ली, वहां पहले तो शरणदाता ने रेप किया, फिर उसके दोस्त ने भी रेप किया। साल भर तक दोनों दोस्त मनमानी करते रहे। वो सबकुछ सहन करती रही। एक उम्मीद थी कि जिसने शरण दी है वो हाथ भी थामेगा लेकिन एक दिन उसने भी मारपीट के घर से निकाल दिया। अब 26 वर्षीय विवाहिता वापस अपने मायके भोपाल आ गई है। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर केस डायरी विदिशा जिले के गंजबासौदा थाने भेज ​दी है। 

भोपाल की गांधी नगर पुलिस के अनुसार शिवाजी वार्ड में रहने वाली विवाहिता (26) की शादी रायसेन जिले में हुई थी। पीड़िता के मुताबिक पति उसे जानवरों की तरह पीटता था। इसके चलते उसने अपनी बच्ची के साथ गंजबासौदा में अपने परिचित राजेश उर्फ सत्यनारायण शर्मा के यहां शरण ली लेकिन राजेश ने भी 14 जनवरी 2016 को उससे रेप कर डाला। इसके बाद महिला ने पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो आरोपी ने उसे शादी का झांसा देकर खामोश करा दिया।

इसी दौरान आरोपी के दोस्त तेजू उर्प तेज नारायण शर्मा ने भी महिला के साथ ज्यादती कर दी। उसने महिला को जान से मारने की धमकी देकर इस बारे में किसी को भी बताने से मना किया था। पीड़िता बहुत दिनों तक दोनों आरोपियों की मनमानियों को सहन करती रही। जब बीते बुधवार को आरोपी राजेश ने महिला से शादी करने से मना कर दिया तब विवाद हो गया। आरोपी ने मारपीट की और जान से मारने की धमकी देकर पीड़िता को घर से निकाल दिया। 

महिला ने अपने मायके गांधीनगर आकर गुरुवार को पुलिस में शिकायत कर दी। दोनों आरोपियों के खिलाफ ज्यादती की एफआईआर दर्ज हो गई है। बयानों में महिला ने कहा है कि आरोपी उसकी बेटी को जान से मारने की धमकी देता था। इससे वह इतने दिनों तक चुप रही। पुलिस ने केस डायरी ऑनलाइन गंजबासौदा ट्रांसफर कर दी है।