Loading...

INDIA के 7 राज्य लू की चपेट में, 16 राज्य गर्मी से झुलसे, 2 मौतें

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के सोलापुर और औरंगाबाद में गुरुवार को लू से दो लोगों की मौत हो गई। राज्य के अकोला में पारा 44 डिग्री पर पहुंच गया। गुरुवार को यह देश की सबसे गर्म जगह रही। बता दें कि राज्य में वेदर डिपार्टमेंट ने पहले से ही लू का अलर्ट जारी किया है। उधर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, ओडिशा और राजस्थान समेत कई राज्य गर्म हवाओं की चपेट में हैं। 

अकोला के बाद ओडिशा का तीतलगढ़ देश में दूसरा सबसे स्थान रहा। यहां टेम्परेचर 43.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। 43.6 डिग्री के साथ महाराष्ट्र का वर्धा और उत्तर प्रदेश का बांदा देश में तीसरा सबसे गर्म स्थान रहा।

राजस्थान
राजस्थान में गर्म हवाओं का असर लगातार दूसरे दिन जारी रहा। राज्य के कई जिलों में पारा 40 डिग्री से ऊपर पहुंच गया। वेदर डिपार्टमेंट का कहना है कि राज्य में अगले 24 घंटों में भी गर्मी से राहत की उम्मीद नहीं है। राज्य में चुरू सबसे गर्म रहा। यहा पारा 42.4 डिग्री पर पहुंच गया। इसके अलावा बीकानेर में टेम्परेचर 41.8, कोटा में 41.5, बाड़मेर में 41.4, जयपुर 41.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

मध्य प्रदेश
राजस्थान से आ रहीं गर्म और बिना नमी वाली हवा की वजह से मध्य प्रदेश में भी गर्मी तेज है। राज्य में बुधवार को खरगोन, खजुराहो, रतलाम, नौगांव, दमोह और होशंगाबाद में टेम्परेचर 43 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया गया था।

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश में बांदा 43.2 डिग्री टेम्परेचर के साथ राज्य की सबसे गर्म जगह रही।

गुजरात
गुजरात में पिछले कुछ दिनों से टम्परेचर 40 से 42 डिग्री के बीच बना हुआ है। वेदर डिपार्टमेंट अहमदाबाद सेंटर की डायरेक्टर मनोरमा मोहंती ने बताया कि गुजरात रीजन में अगले 24 घंटे तक गर्मी के ऐसे ही हालात रहेंगे। बता दें कि सोमवार को अहमदाबाद में पारा 42.8 डिग्री पर पहुंच गया था। यह सात साल में सबसे ज्यादा था।

इन राज्यों में पड़ेगी तेज गर्मी
पुणे मौसम विभाग के मुताबिक इस साल पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, वेस्ट बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना में नॉर्मल से ज्यादा टेम्परेचर रह सकता है। महाराष्ट्र के मराठवाड़ा, सेंट्रल महाराष्ट्र-विदर्भ और कोंकण के कोस्टल एरिया में एवरेज से ज्यादा गर्मी पड़ सकती है।

पिछली बार 115 साल का रिकॉर्ड टूटा था
1901 के बाद 2016 सबसे ज्यादा गर्म साल था। उस दौरान राजस्थान के फलौदी में टेम्परेचर 51 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। पिछले साल देशभर में गर्मी से 1600 लोगों की मौत हुई थी। इनमें से 700 मौतें लू के कारण हुई थीं। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में सबसे अधिक 400 लोग मारे गए थे। वेदर डिपार्टमेंट के मुताबिक, 1901 के बाद जनवरी 2017 आठवां सबसे गर्म महीना रहा है।