24390 शौचालय डकार गए अफसर, सरपंच और सचिव, 16 के खिलाफ FIR दर्ज

Advertisement

24390 शौचालय डकार गए अफसर, सरपंच और सचिव, 16 के खिलाफ FIR दर्ज

आनंद ताम्रकार/बालाघाट। जिले की परसवाडा पुलिस ने शौचालय निर्माण में किये गये घोटाले के संबंध में 16 लोगों के खिलाफ अमानत में खयानत करने का मामला दर्ज किया है। बैहर एसडीएम हर्ष दीक्षित की शिकायत पर यह कार्यवाही की गई है मामले की जांच परसवाडा थाना प्रभारी अजय मरकाम करेगें। यह उल्लेखनीय है कि जिले में 2010 से लेकर वर्ष 2015 तक 100602 शौचायलयों का निर्माण होना दर्शाया गया था जिसमें से 24390 शौचालयों का निर्माण कराया नही गया। जबकि 21609 शौचायल क्षतिगस्त पाये गये थे।

कलेक्टर भरत यादव के निर्देश पर जिला स्तरीय जांच दल द्वारा जांच किये जाने पर जिले में 24390 शौचालयों का निर्माण नही होना पाया गया जिसमें करोडों रूपयों का घोटाला किया जाना पाया गया है। इसी सिलसिले में बैहर एसडीएम हर्ष दीक्षित की शिकायत पर परसवाडा पुलिस ने 16 लोगों के खिलाफ धारा 406, 420 ताहि के तहत अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया है। 

ये रही आरोपियों की लिस्ट
जनपद पंचायत परसवाडा के तत्कालीन एवं वर्तमान जनपद पंचायत सीईओ आर एल सैयाम, जिला समन्वयक समग्र स्वच्छता अभियान जिला पंचायत असीम अब्रहम, ब्लाक समन्वयक जनपद पंचायत परसवाडा प्रीति शिवहरे, तत्कालीन लेखापाल सतीश कुम्मरे, ग्राम पंचातय बड़गाव के पूर्व सरपंच इन्द्रावती मरकाम, बडगांव उडदना के पूर्व सरपंच बुद्दुलाल परते, हर्राभाट के पूर्व सरंपच भगम सिंह नैताम, पूर्व सचिव रघुलाल मानकर, मजगांव पूर्व सरपंच सदनसिंह वरकड़े, कोर्जा के पूर्व सचिव किशनसिंह टेकाम, कोर्जा की पूर्व सरंपच पुष्पा सैयाम, पूर्व सचिव हेमीराज राहगडले, फतेहपूर पूर्व सरपंच ललीता मसकोले, पूर्व सचिव केशर मरकाम,  उडदना की पूर्व सरपंच गीता बाई उइके, उडदना की पूर्व सरपंच आशा बाई कडवेती इन लोगों द्वारा शौचालय निर्माण के नाम पर 1 करोड 17 लाख 56 हजार 800 रूपये का गबन किया जाना पाया गया है।