Loading...

बिहार में बिजली की दरें घटाईं, किसानों के लिए मात्र 1.50 रुपये

नई दिल्ली। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकार पर अभी कोई चुनावी दवाब नहीं है बावजूद इसके सरकार ने बिजली दरों में हुई वृद्धि से आम आदमी को राहत पहुंचाई है। बजट सत्र के अंतिम दिन मुख्यमंत्री ने विधानसभा में बिजली पर सब्सिडी देते हुए नए दरों की घोषणा की। सीएम ने विधानसभा में कहा कि बिहार में बिजली का दर पड़ोसी राज्यों से कम है। नीतीश ने कहा कि नई व्यवस्था में सब्सिडी के पैसे लोगों के अकाउंट में भेजने की रुपरेखा तैयार की गई है।

सीएम ने कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अलग-अलग दर तय किये गए हैं, अब शहरी उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 1.48 रुपये की सब्सिडी मिलेगी। वहीं, ग्रामीण इलाके के उपभोक्ताओं को 3.10 रुपये की सब्सिडी मिलेगी। बता दें कि नियामक आयोग ने बिजली की दरों में 55 फीसदी का इजाफा किया था, जिसका जमकर विरोध हुआ था।

ये हैं नए दर
कुटीर ज्योति योजन के तहत : 6.08 पैसे पर 3.58 पैसे प्रति यूनिट अनुदान के बाद 2.50 रुपये देय होंगे। 
व्यपारिक ग्रामीण इलाके : 6.83 रुपये पर 2.50 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 4.33 रुपये देय होंगे। 
व्यपारिक शहरी इलाके : 8.02 रुपये पर 0.40 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 7.62 रुपये देय होंगे। 
कृषि एवं सिचाई : 5.79 रुपये पर 4.29 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 1.50 रुपये देय होंगे। 
इंडस्ट्री 19 KW : 8.59 रुपये पर 0.25 पैसे प्रति यूनिट अनुदान के बाद 8.34 रुपये देय होंगे। 
इंडस्ट्री 74 KW : 8.62 रुपये पर 0.28 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 8.34 रुपये देय होंगे। 
ग्रामीण इलाके : 6.45 रुपये पर 3.10 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 3.35 रुपये देय होंगे। 
शहरी इलाके : 6.48 रुपये पर 1.48 रुपये प्रति यूनिट अनुदान के बाद 5.00 रुपये देय होंगे।