डॉक्टर्स सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का शब्दश: पालन करें: हेल्थ मिनिस्टर

Tuesday, October 18, 2016

भोपाल। परिवार कल्याण कार्यक्रम में गुणवत्ता सुधार के लिये सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी नवीन दिशा-निर्देशों का प्रदेश के चिकित्सक अक्षरश: पालन करें। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने यह बात आज परिवार कल्याण कार्यक्रम की राज्य-स्तरीय कार्यशाला में कही। केन्द्रीय स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय के उपायुक्त डॉ. एस.के. सिकदर और उनकी टीम ने कार्यशाला में प्रदेश के सभी जिलों से आये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन-सह-मुख्य अस्पताल अधीक्षक, जिला स्वास्थ्य अधिकारी, मुख्य नसबंदी सेवा प्रदाता, जिला कार्यक्रम प्रबंधक और संभागीय संयुक्त संचालक को सुप्रीम कोर्ट के नवीन दिशा-निर्देशों, विशेष तौर पर परिवार कल्याण सेवाओं के गुणवत्ता सुधार पर विशेष जानकारी दी।

आँकड़े छुपाने का प्रयास न करें
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि चिकित्सक कभी भी बीमारी के आँकड़ों को छुपाने का प्रयास न करें। ग्रामीण क्षेत्रों में पंच-सरपंच, पंचायत सचिव, आशा कार्यकर्ता से अच्छे संबंध के आधार पर सतत संपर्क में रहें। इससे किसी भी बीमारी के होने पर तुरंत सूचना मिलेगी। चिकित्सक अपनी टीम और कम से कम 50 लोगों के इलाज की व्यवस्था के साथ तुरंत मौके पर पहुँचें। इससे काफी हद तक रोग को फैलने से रोका जा सकेगा।

पंचायत सचिव का सम्मेलन बुलायें
श्री सिंह ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से कहा कि वे अपने-अपने जिले में पंचायत सचिव और आशा कार्यकर्ता का सम्मेलन बुलायें। पंचायत सचिव के माध्यम से ग्रामीणों को रोगों के खिलाफ जाग्रत करें। ग्रामीणों को समझायें कि लार्वा विनष्टीकरण, रोगग्रस्त गाँव में जाने, वहाँ से आने के क्या-क्या परिणाम हो सकते हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें

mgid

Loading...

Popular News This Week