AIIMS BHOPAL: फोन पर मिलेंगे डॉक्टर, SMS पर दवाई का पर्चा | MP NEWS

Monday, January 15, 2018

भोपाल। एम्स भोपाल में मरीजों के लिए बड़ी सुविधा शुरू होने जा रही है। एक बार दिखाने के बाद मरीज घर बैठे अपने इलाज का FALLOW-UP डॉक्टर से पूछ सकेंगे। DOCTOR उन्हें एसएमएस के जरिए दवाएं भी बता देंगे। यह सुविधा 20 जनवरी से शुरू की जा रही है। फिलहाल छह प्रमुख स्पेशलिटी विभागों के लिए टेलीफोनिक कंसल्टेशन (TELEPHONIC CONSULTANT) की सुविधा शुरू की जाएगी। मरीजों को कंसल्टेंट्स से सलाह लेने के लिए दिए गए PHONE NUMBER पर तय समय में फोन लगाना होगा। यह CALL एम्स के टेलीमेडिसिन सेंटर TELEMEDICINE CENTER से जुड़ी होगी। यहां मरीज से उसकी परेशानी व अन्य जानकारी ली जाएगी। 

डॉक्टर को मरीज की तकलीफ समझने या इलाज बताने में आसानी हो। इसके लिए बातचीत रिकार्ड भी की जाएगी। इसके बाद यह CALL ओपीडी में संबंधित कंसल्टेंट को ट्रांसफर की जाएगी। OPD में दिखा चुके मरीज अपने पर्चे व जांच की कॉपी भी WHATSAPP या अन्य माध्यम से टेलीमेडिसिन सेंटर में भेज सकेंगे। डॉक्टर पूरी रिपोर्ट देखने के बाद मरीज को सलाह देंगे। उन्हें बताया जाएगा कि कौन से दवा चालू रखना है कौन सी बंद करना है। दिखाने के लिए कब आना है। साथ ही जरूरत पर दवा भी बदल सकेंगे। दवाओं की जानकारी मरीज तक एसएमएस के जरिए भेजी जाएगी।

सबसे ज्यादा फायदा भर्ती हो चुके मरीजों को
इस सुविधा का सबसे ज्यादा फायदा उन मरीजों को होगा जो अस्पताल में भर्ती रह चुके हैं। ऐसा इसलिए कि भर्ती होने वाले मरीजों का पूरा रिकार्ड अस्तपाल के लोकल नेटवर्क पर रहता है। मरीज का ओपीडी रजिस्ट्रेशन नंबर डालते ही उसकी पूरी जानकारी कंप्यूटर स्क्रीन पर आ जाएगी। इसके बाद डॉक्टर पूरी हिस्ट्री देखकर मरीजों को सलाह दे सकेंगे। इन मरीजों को भी एसएमएस पर दवा बताई जाएगी। टेलीफोनिक परामर्श का दिन और समय ऐसा रखा जाएगा, जिससे ओपीडी में अन्य मरीजों को कोई परेशानी नहीं होगी।

इन विभागों के लिए शुरू की जा रही सुविधा
पीडियाट्रिक्स, आर्थोपेडिक्स, गायनी, ईएनटी, जनरल मेडिसिन व जनरल सर्जरी विभाग के लिए।

यह होगा फायदा
मरीजों को अस्पताल नहीं आना पड़ेगा।
अस्पताल में मरीजों की भीड़ का दबाव कम होगा।
अस्पताल में आने में मरीज देरी कर देते हैं, टेलीफोनिक फालोअप से वे तय तारीख पर परामर्श ले सकेंगे।
साधारण तकलीफ में ही मरीजों को सही सलाह मिल जाएगी, जिससे बीमारी ज्यादा नहीं बढ़ेगी।

-----------
कुछ विभागों के लिए यह सुविधा शुरू की जा रही है। मरीजों का रिस्पांस देखने बाद अन्य विभागों में भी इसका विस्तार किया जाएगा। इसी महीने से यह सुविधा शुरू होगी। इससे दूर-दराज के मरीजों को काफी सुविधा मिलेगी।
डॉ. राजेश मलिक
मेडिकल सुपरिंटेंडेंट, एम्स भोपाल

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Popular News This Week