NARENDRA MODI: बिहार से धमकी के बाद कश्मीर से आई सबसे बड़ी चुनौती

Monday, November 27, 2017

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर सुबह बिहार में लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने खाद उधेड़ने की धमकी दी थी, शाम को कश्मीर से नई चुनौती आ गई। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने नरेंद्र मोदी समेत उनकी पूरी सरकार को चुनौती दी कि वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में तिरंगा फहराने की बातें करने से पहले श्रीनगर के लाल चौक पर भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहराकर दिखाए। उन्होंने कहा, ‘‘वे (केंद्र एवं भाजपा) पीओके में झंडा फहराने की बातें कर रहे हैं। मैं उनसे कहता हूं कि वे पहले श्रीनगर के लाल चौक पर जाकर तिरंगा फहराएं। वे ऐसा कर नहीं सकते और पीओके की बातें करते हैं। अपनी टिप्पणी के बचाव में नेशनल कांफ्रेंस के नेता ने कहा, ‘‘यदि आप सच सुनना पसंद नहीं करते तो भुलावे में ही रहें। सच यह है कि (पीओके) हमारा हिस्सा नहीं है और यह (जम्मू-कश्मीर) उनका (पाकिस्तान का) हिस्सा नहीं है। यही सच है। 

भारतीय संवेदना क्या होती है
यह पूछे जाने पर कि क्या वह ऐसी टिप्पणियां करके भारतीय संवेदनाएं आहत नहीं कर रहे, उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय संवेदना क्या होती है ? क्या आप यह सोच रहे हैं कि मैं भारतीय नहीं हूं ? उन्होंने कहा, ‘‘आप किनकी संवेदनाओं की बात कर रहे हैं ? उन दुष्टों के बारे में जिन्हें हमारी तकलीफें नहीं दिखाई देतीं ? जो सीमा पर रहने वाले लोगों की तकलीफें नहीं देखते ? कि जब गोले बरसने शुरू होते हैं तो उन्हें कैसी तकलीफ से गुजरना पड़ता है।

देश के लिए सम्मान महत्वपूर्ण है
फारूक ने उस घटना की निंदा की जिसमें कुछ दिन पहले राजौरी जिले में राष्ट्रगान के वक्त दो छात्र खड़े नहीं हुए। उन्होंने कहा कि देश के लिए सम्मान महत्वपूर्ण है और राष्ट्रगान सबसे अधिक सम्माननीय है। उन्होंने कहा कि दोषियों के माफी मांगने तक सरकार को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और उन्हें हलफनामा देना चाहिए कि वे ऐसा दोबारा नहीं करेंगे।

लाल चौक सहित पूरे कश्मीर में तिरंगा लहराता है: भाजपा
भाजपा ने फारूक की टिप्पणी की आलोचना की है। पार्टी नेता एवं राज्य के उप-मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस अलगाववादियों और आतंकवादियों को मजबूत कर रही है। उन्होंने कहा कि लाल चौक सहित राज्य के हर हिस्से में तिरंगा फहराया जा रहा है। फारूक ने हाल में यह टिप्पणी भी की थी कि पीओके भारत का हिस्सा कभी नहीं बन सकता। अपनी इस टिप्पणी के बारे में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने सिर्फ तथ्य कहा और पीओके के बारे में जो कुछ कहा वह ‘‘सच’’ है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं