मध्यप्रदेश में बनेगा रानी पद्मावती का शौर्य स्मारक: शिवराज सिंह | MP NEWS

Tuesday, November 21, 2017

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि रानी पद्मावती के जीवन और शौर्य गाथा से सम्बंधित ऐतिहासिक तथ्यो से छेड़छाड़ कर बनी फिल्म रानी पद्मावती का प्रदर्शन मध्यप्रदेश की धरती पर नहीं होगा। श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास पर राजपूत क्षत्रिय समाज के नेतृत्व में कई समाज के प्रतिनिधि मंडल के लोगो को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि रानी पद्मावती के बलिदान का अपमान देश और प्रदेश स्वीकार नहीं करेगा। बता दें कि कुछ रोज पहले होशंगाबाद में राजपूत करणी सेना की ओर से फिल्म पद्मावती के दर्शकों को भी धमकी दी गई थी। 

उन्होंने कहा कि भोपाल में रानी पद्मावती की शोर्य गाथा के प्रदर्शित करने स्मारक स्थापित किया जाएगा। भावी पीढ़ी के लिए प्रस्तावित वीर भूमि प्रकल्प में वीरो की शोर्य गाथाओ को प्रदर्शित किया जाएगा। श्री चौहान ने कहा कि भारत ने दुनिया को वीरता का पाठ पढ़ाया है। भारत के वीरो ने अपनी गरिमा, आत्म-सम्मान और मातृभूमि के लिए प्राणों का बलिदान दिया है। अपने मान-सम्मान की रक्षा के लिए बलिदान देने की भारतवर्ष की अद्भुत वीरगाथाओं का उदाहरण पूरी दुनिया में नहीं मिलता। श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं के सम्मान के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाले व्यक्ति क¨ राष्ट्रमाता पद्मावती पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। 

इसी प्रकार वीरता के लिए महाराणा प्रताप पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। महारानी पद्मावती के सम्मान की रक्षा में विभिन्न जिलो से आये राजपूत समाज के नेतृत्व में कई समाज के प्रतिनिधि मंडलो ने रानी पद्मावती के सम्मान और गरिमा को धूमिल करने और इतिहास से छेड़छाड़ करने के षड्यंत्र के विरुद्ध मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस माटी के कण-कण में क्षत्रियों का शौर्य और स्वाभिमान है। महाराणा प्रताप जैसे वीर योद्धाओं की वीरता की लहर आज भी पूरे देश में हर व्यक्ति के मन मस्तिष्क में दौड़ती है। हजारों वीरों ने अपनी जान की फिक्र किये बगैर राष्ट्र सेवा में प्राणों की आहूति दी। रानी पद्मावती ने 16 हजार क्षत्राणियों के साथ भारत के सम्मान और नारी के स्वाभिमान के लिए जोहर किया था। भारतीय इतिहास पर कोई फिल्म बनती है, तो उसके ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की धरती पर शौर्य स्मारक बनाकर देश के लिए प्राण न्यौछावर करने वाले वीर योद्धाओं के शौर्य का सम्मान किया गया है। रानी पद्मावती के शौर्य से जन-जन परिचित हो इसके लिए भोपाल में रानी पद्मावती स्मारक बनाया जायेगा, जिससे आने वाली पीढ़ी उनके के जीवन से जुड़े पहलुओं को जानकर और राष्ट्रसेवा की प्रेरणा ले सके। रानी पद्मावती के बलिदान को जन-जन तक पहुंचाया जायेगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं