DOCTOR नाराज क्या हुआ, प्रेमिका ने रेप की FIR करा दी | CRIME NEWS

Sunday, November 26, 2017

धौलपुर। यहां एक लवस्टोरी में बड़ा ट्वीस्ट आया है। एक डॉक्टर अपनी प्रेमिका से नाराज हो गया। लाख मनाने पर भी बात नहीं कर रहा था तो प्रेमिका थाने पहुंच गई और अपने प्रेमी डॉक्टर के खिलाफ 11 साल तक बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए रेप की एफआईआर दर्ज करा दी। 5 दिन पहले महिला थाने में मामला दर्ज किया गया। शुक्रवार सुबह वही डॉक्टर मिठाई और फूल की मालाएं लेकर महिला थाने पहुंचा और अपने सारी बात बताई। प्राइवेट डॉक्टर ने पुलिस से कहा कि उसने युवती से प्यार किया है, लेकिन उसे धोखा नहीं दिया है। वह उससे ही शादी करना चाहता है। वो तो बस गुस्सा हो गया था इसलिए बात नहीं कर रहा था। युवती उनकी नाराजगी को शायद समझ नहीं पाई। बता दें कि डॉक्टर युवती के दीदी का देवर है। 

थाने के बाहर डॉक्टर और युवती जब आपस में मिले तो दोनों ने एक-दूसरे के प्रति काफी गिला-सिकवे दूर किए। जानकारी के अनुसार, डॉक्टर ने युवती से कई बार कुछ कहा, लेकिन युवती ने उसे अनदेखा कर दिया। इसको लेकर वह युवती से नाराज हो गया और उसने उससे बात करना बंद कर दिया। डॉक्टर के बात नहीं करने पर युवती ने यह सोच लिया कि डॉक्टर उसके साथ खेल रहा है। इसके बाद युवती ने काफी प्रयास किए, लेकिन डॉक्टर ने उससे बात नहीं की। अंत में युवती ने डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया। आज जब डॉक्टर थाने में माला-मिठाई लेकर पहुंचा तो सभी चौंक गए।  डॉक्टर ने बताया कि वह युवती से प्यार करता है और उसी के साथ शादी करेगा।

18 वर्ष पहले हो चुकी है युवती के पिता की मौत
 विक्टिम ने बताया कि उसके सिर से पिता का साया करीब 18 वर्ष पहले उठ चुका है। ऐसे में उसका भाई अब उसके लिए पिता की भूमिका निभा रहा है। डॉक्टर के शादी करने से मुकरने के बाद जब उसने भाई को पूरी बात बताई तो भाई ने उसका साथ नहीं छोड़ा। इसके बाद न्याय के लिए उसका भाई साथ देने के लिए खड़ा हो गया। और इस मामले के समाधान होने तक बहन का साथ नहीं छोड़ा।

एसएचओ को मिठाई खिलाकर परिजन बोले-हम नहीं चाहते कार्रवाई
महिला थाने के बाहर परिजनों की समझाइश के बाद युवती के परिजन महिला थाने के एसएचओ से मिले और उन्हें मिठाई खिलाकर कहा कि डॉक्टर और युवती शादी के लिए राजी हैं। ऐसे में वे अब कार्रवाई नहीं चाहते हैं। समाज सेवी रामजी लाल ने बताया कि दोनों पक्षों का बैठाकर वर और वधू को मंगलसूत्र में बांधने का प्रयास किया गया है। डॉक्टर और युवती दोनों ने शपथ ली है कि वे अब कभी आपसी मनमुटाव नहीं करेंगे और भविष्य में कभी ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे।

महिला थाने ने दोनों को मिलाने में निभाई अच्छी भूमिका
 प्राइवेट डॉक्टर के थाने पहुंचने के बाद एसएचओ राजाराम गुर्जर ने भी डॉक्टर की इस पहल की सराहना की है। परिजनों की समझाइश के बाद एसएचओ ने डॉक्टर और युवती दोनों को साथ बैठाकर बातचीत की। इस दौरान दोनों ने अपनी पुरानी यादों को ताजा करते हुए उन्हें कई बातें बताई। इसके बाद थाने के स्टाफ ने दोनों से कहा कि अगर इतना लगाव एक-दूसरे से था तो ऐसी नौबत क्यों आने दी। फिर दोनों ने अपनी-अपनी बात रखकर हमेशा एक-दूसरे का साथ देने का वादा किया। डॉक्टर और युवती के बीच समझौता हाेने के बाद जहां उनक परिजनों ने राहत की सांस ली। वहीं डॉक्टर ने वहां मौजूद सभी लोगों को मिठाई खिलाकर आशीर्वाद लिया और युवती का कभी साथ छोड़ने का वायदा भी किया। डॉक्टर ने बताया कि वह पिछले 11 साल से युवती से प्रेम कर रहा है और आगे भी अपनी धर्मपत्नी बनाकर प्यार करता रहेगा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं