क्लर्क पर ANM और स्टाफ नर्स के यौन शोषण का आरोप | HARASSMENT OF WORKPLACE

Friday, November 10, 2017

रांची/बोकारो। झारखंड के बोकारो सिविल सर्जन कार्यालय में इनदिनों एक सीडी को लेकर भूचाल मचा हुआ है। सीडी में विभाग का एक क्लर्क अश्लील हरकत करते हुए कैमरे में कैद हो गया है। जिसके बाद स्वास्थ विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। हेल्थ डिपार्टमेंट ने बोकारो जिले के सिविल सर्जन ऑफिस के क्लर्क रमेश कुमार के खिलाफ डीसी और एसपी को एक पत्र जारी किया गया है। पत्र के साथ में एक सीडी भी संलग्न है, जिसकी जांच करके कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। बोकारो जिले में पोस्टेड हेल्थ डिपार्टमेंट की महिला कर्मचारियों ने अक्टूबर 2017 में चीफ सेक्रेटरी राजबाला वर्मा को एक शिकायत पत्र और सीडी भेजी थी। इसमें क्लर्क रमेश कुमार के कारनामों को उजागर किया गया है। 

सीडी में क्लर्क रमेश कुमार को एक महिलाकर्मी के साथ ऑफिस में ही अश्लील हरकतें करते हुए भी  दिखाया गया है। सीडी के सामने आने के बाद अब इस मामले को गंभीरता से लेते हुए स्वास्थ विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी सुधीर त्रिपाठी ने 23 अक्टूबर को बोकारो के डीसी और एसपी को पत्र भेज कर पूरे मामले की जांच करने के लिए कहा गया है। 

इसमें बोकारो एसपी को जांच के बाद उचित धाराओं के तहत कार्रवाई करने को भी कहा गया है। इसके अलावा क्लर्क पर लगे दूसरे आरोपों की जांच डीसी को करने के लिए कहा गया है। साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ न हो, इसके लिए क्लर्क का जिले से बाहर ट्रांसफर कर दिया गया है। हालांकि, आरोपी रमेश कुमार का कहना है कि यह सीडी पुरानी है और इस मामले में वह कंप्रोमाइज कर चुके हैं। अब साजिश के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है।

क्या लिखा है पत्र में?
चीफ सेक्रेटरी के नाम पर भेजे गए पत्र में रमेश कुमार पर अन्य आरोप भी लगाए गए हैं। कहा गया है कि क्लर्क की ओर से कार्यालय की महिला कर्मचारियों, एएनएम और स्टाफ नर्स को डरा-धमकाकर शारीरिक एवं आर्थिक शोषण किया जा रहा है। जो महिला कर्मचारी उसकी इच्छा की पूर्ति नहीं कर रही हैं, उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है। पत्र में आरोप लगाया गया है कि रमेश कुमार सिविल सर्जन ऑफिस बोकारो के अलावा पीएचसी चंदनकियारी के वेतन निकासी का कार्य भी करते हैं। 

जबकि चंदनकियारी सिविल सर्जन ऑफिस से 30 किमी दूर है और वहां क्लर्क पोस्टेड है, जिसे आज तक प्रभार नहीं दिया गया है। उनकी कार्यप्रणाली से चंदनकियारी के स्टॉफ भी परेशान हैं। पत्र के द्वारा यह भी आरोप लगाया गया है कि पहले भी क्लर्क की शिकायत बोकारो सिविल सर्जन ऑफिस, निदेशक प्रमुख एवं स्वास्थ्य विभाग को की गई थी। लेकिन हर बार उसके खिलाफ लगे आरोपों को दबा दिया गया।

सीडी में दिख रही महिला बोकारो में ही पोस्टेड थी आरोपपत्र के साथ सीडी भेजी गई। इसमें क्लर्क को जिस महिला के साथ दिखाया गया है, उसके बारे में बताया गया कि वह पहले चंदनकियारी में पोस्टेड थी, जिसे बाद में डिस्ट्रिक हेडक्वार्टर बुला लिया गया। क्लर्क रमेश कुमार के खिलाफ जनवरी 2017 में भी यह शिकायती पत्र सामने आया था, मगर उसके बाद मामले में कुछ नहीं हुआ।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week