इस सरकार को लगता है कि हर व्यापारी चोर है: राहुल गांधी

Thursday, October 26, 2017

नई दिल्ली। राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला किया। गुरुवार को एक कार्यक्रम में राहुल ने कहा, " व्यापार भरोसे पर चलता है, लेकिन इस सरकार में भरोसा खत्म हो गया है, पीएम को विश्वास है कि हर शख्स चोर है।" राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "डॉ. जेटली, नोटबंदी और GST से इकोनॉमी ICU में है। आप कहते हैं कि आप किसी से कम नहीं, मगर आपकी दवा में दम नहीं है।" राहुल करीब 15 दिनों से केंद्र सरकार की नीतियों पर काफी एग्रेसिव होकर सवाल उठा रहे हैं। इससे पहले, उन्होंने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स करार दिया था। 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक राहुल ने पीएचडी एनुअल अवॉर्ड्स फॉर एक्सीलेंस 2017 और इसके 112वें एनुअल सेशन में कहा, "एक-दूसरे को सुनकर ही भरोसा जीता जा सकता है, लेकिन आज इस सरकार में कोई भी लोगों का दर्द सुनने को तैयार नहीं है। व्यापार डूब रहा है, लेकिन मि. जेटली (फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली) हर दूसरे दिन टीवी पर जोश में कह रहे हैं कि हालात ठीक हैं। राहुल ने नोटबंदी की आलोचना करते हुए कहा, "सारा कैश काला धन नहीं है और न ही सारा काला धन कैश है। शादी के सवाल पर राहुल बोले, "जब होगी तो होगी, मैं किस्मत में यकीन करता हूं।

पहले बताया था कांग्रेस-बीजेपी के जीएसटी का फर्क
राहुल गांधी ने 24 अक्टूबर को ट्वीट कर समझाया था कि कांग्रेस के और मोदी सरकार के जीएसटी में क्या फर्क है। उन्होंने बताया- "कांग्रेस जीएसटी = जेन्यूइन सिम्पल टैक्स। मोदीजी जीएसटी = गब्बर सिंह टैक्स = ये कमाई मुझे दे दे। बता दें कि गब्बर सिंह रमेश सिप्पी की फिल्म शोले का एक पॉपुलर कैरेक्टर है। यह फिल्म 1975 में आई थी। इस रोल को अमजद खान ने निभाया। एक सीन में गब्बर दूसरे कैरेक्टर (ठाकुर) से कहता है - "ये हाथ मुझे दे दे ठाकुर।" राहुल ने जीएसटी के साथ इसकी तुलना कर कहा कि ये कमाई मुझे दे दे। इससे पहले सोमवार को उन्होंने केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा था, “इनका जो GST है, ये GST नहीं, ये है गब्बर सिंह टैक्स है।”

कांग्रेस की देन है GST
राहुल ने अहमदाबाद में एक रैली 23 अक्टूबर को कहा था- " जीएसटी कांग्रेस पार्टी की देन है। पार्टी इसे पूरे देश में एक टैक्स की कॉन्सेप्ट के तहत लायी थी। इसे सरल रखना चाहती थी। 18% की लिमिट में। पर इनकी जो जीएसटी है वह जीएसटी यानी गब्बरसिंह टैक्स है। इससे देश को नुकसान हो रहा है। मोदी जी ने देश पर पहले ही नोटबंदी की कुल्हाडी चला कर इकोनॉमी को चौपट कर दिया था और दूसरी कुल्हाडी जीएसटी की चला दी। हमने उन्हें इसे सरल रखने की गुजारिश की थी और इसे धीरे से लागू करने को कहा था। मै अब भी कह रहा हूं 28% की लिमिट, महीने में तीन फार्म भरने वाली इस जीएसटी को बदलना पडेगा। इसे सरल बनाना पडेगा। यह करना ही पडेगा नहीं तो देश को जबर्दस्त नुकसान होगा। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week