CM शिवराज सिंह के बेटे की फूल दुकान में घोटाला ?

Thursday, August 31, 2017

उपदेश अवस्थी/भोपाल। मध्यप्रदेश में आज की सबसे चर्चित खबर सीएम शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान की फूल की दुकान मामले में भ्रष्ट आचरण का मामला सामने आया है। कार्तिकेय ने बिट्‌टन मार्केट दशहरा मैदान के ठीक सामने इंदिरा मार्केट में 10X10 की दुकान में फूल और गुलदस्तों का कारोबार शुरू किया है। दुकान का नाम ‘सुंदर फ्लोरिका' रखा गया है लेकिन यह दुकान तो टॉप एंड टाउन के मालिक रमानी बंधुओं के नाम है। कार्तिकेय सिंह इस दुकान के अधिकृत किराएदार ही नहीं हैं। इस तरह की किराएदारी अवैध मानी जाती है। सवाल यह है कि कार्तिकेय ने अपने नाम से दुकान का किराएदारी एग्रीमेंट क्यों नहीं किया। दूसरा सवाल यह भी है कि टॉप एंड टाउन के मालिक रमानी बंधुओं ने अपनी दुकान कार्तिकेय को क्यों दे दी। 

दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार कार्तिकेय ने जिस दुकान में फूलों का आउटलेट खोला है वह मंगल किराना चलाने वाले परिवार के नाम पर है। उन्होंने करीब छह महीने पहले इसे टॉप एंड टाउन के मालिक रमानी बंधुओं को किराए पर दिया था। इस पर आइस्क्रीम का आउटलेट खुलने वाला था। मंगल किराना के मालिक के मुताबिक उन्होंने 30 हजार रुपए महीना किराए पर टॉप एंड टाउन के रमानी को दी है।

मामला बहुत छोटा सा लगता है परंतु जब बड़े लोग इंवाल्व हों तो बड़ा हो ही जाता है। सीएम शिवराज सिंह और उनके परिवार से उम्मीद की जाती है कि वो नियमों का पालन हर हाल में करेंगे। कार्तिकेय को यदि दुकान खोलनी ही थी तो खुद किराएदार बनते। सवाल यह भी है कि टॉप एंड टाउन के मालिक रमानी बंधुओं ने यह दुकान अपने लिए किराए पर लेकर सीएम शिवराज सिंह के बेटे को अवैध रूप से किराए पर क्यों दी। यदि वो कार्तिकेय से किराया नहीं ले रहे हैं तो मामला और भी संदेहास्पद हो जाता है। सवाल यह है कि स्टार्टअप की शुरूआत में ही भ्रष्ट आचरण क्यों। सबकुछ साफ साफ क्यों नहीं है।

इस मामले में प्रतिक्रिया के लिए रमानी बंधुओं से बात करने की कोशिश की गई परंतु उनके आॅफिस से बताया गया कि वो किसी आवश्यक मीटिंग में है। मैसेज नोट करा दिया गया है। उनकी प्रतिक्रिया प्राप्त होते ही प्रकाशित की जाएगी। 

कार्तिकेय सिंह चौहान के बारे में
21 साल के कार्तिकेय, शिवराज सिंह चौहान के छोटे बेटे हैं। 
पुणे के मशहूर सिंबोसिस कॉलेज से कानून की पढ़ाई की है। 
पहले भी कई बार राजनीति में आने के संकेत दे चुके हैं। 
2013 के विधानसभा चुनाव में बुधनी विधानसभा क्षेत्र में वह अपने पिता शिवराज सिंह चौहान के लिए प्रचार कर चुके हैं। 
जनता के बीच वह खुद को विकास के लिए काम करने वाले शख्स के तौर पर दिखाते आए हैं। 
कार्तिकेय भरी भीड़ में भाषण देने की कला सीख चुके हैं।
राजनीति में उनकी प्रारंभिक ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है। 
नर्मदा सेवा यात्रा में सीएम शिवराज सिंह के साथ कार्तिकेय भी दिखाई दिए थे। 
माना गया था कि कार्तिकेय ने राजनीति की मुख्यधारा को ज्वाइन कर लिया है। 

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week