BLUE WHALE: 10th के स्टूडेंट ने किया सुसाइड, भारत में दूसरी, दुनिया में 130 मौतें

Sunday, August 13, 2017

नई दिल्ली। सारी दुनिया में अब तक इंटरनेट गेम 'ब्‍लू व्‍हेल' के कारण 130 मौतें हो चुकीं हैं। भारत में आज दूसरी मौत हो गई लेकिन अब तक इस गेम को सरकार ने प्रतिबंधित नहीं किया है। यह मामला पश्चिम बंगाल से आ रहा है। यहां मिदनापुर में एक स्टूडेंट की बॉडी घर के बाथरूम में मिली। कहा जा रहा है कि उसे ब्‍लू व्‍हेल खेलने की लत लग गई थी। पिछले दिनों मुंबई में एक स्टूडेंट ने इसके चक्कर में बिल्डिंग से छलांग लगाई थी। पुणे और इंदौर जैसे शहरों से भी बच्चों के ब्लू व्हेल के झांसे में आकर सुसाइड की कोशिश की जा चुकी है। भारत समेत चीन, अमेरिका और कई देशों में गेम 130 लोगों की जान ले चुका है। गेम में 50 दिनों का टास्क दिया जाता है और आखिर में सुसाइड जैसा कदम उठाना होता है। 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, वेस्ट मिदनापुर के आनंदपुर कस्‍बे के रहने वाला अंकन डे 10th क्लास में पढ़ता था। शनिवार को वह बाथरूम गया और काफी देर तक बाहर नहीं आया। इसके बाद फैमिली मेंबर्स ने दरवाजा तोड़ा तो अंकन फर्श पर पड़ा मिला। घरवालों ने बताया कि अंकन ने अपना सिर प्लास्टिक बैग में ढंक लिया और गर्दन के पास बैग को कसकर बांध रखा था। दम घुटने की वजह से उसकी मौत हो गई। उसके दोस्‍तों ने बाद में बताया कि अंकन 'ब्‍लू व्‍हेल चैलेंज' गेम खेल रहा था।

ब्लू व्हेल गेम नहीं एक ट्रैप (जाल)
टीन एजर्स गेम मानकर ब्लू व्हेल के जाल में फंस रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर ब्लू व्हेल ऐप तलाशे जा रहे हैं, लेकिन असल में यह न तो गेम है और न ही ऐप है। यह अपराधी किस्म के लोगों का एक ट्रैप (जाल) है, जो दुनियाभर में अब तक 130 लोगों की जान ले चुके हैं। नासमझी में बच्चे इसके आसानी से शिकार बन रहे हैं। ‘ब्लू व्हेल’ के पीछे दिमाग है मास्को (रूस) के फिलिप बुडेईकिन का। उसे गिरफ्तार किया जा चुका है और वह तीन साल की सजा काट रहा है। गेम से पहली मौक का मामला 2015 में आया था।

केरल ने की गेम पर बैन की मांग, मप्र ने कहा- हम भी करेंगे
ब्लू व्हेल गेम को लेकर बच्चों के साथ हो रहे हादसे रोकने के लिए केरल ने केंद्र सरकार से इस गेम पर रोक लगाने की अपील की है। वहीं, मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी कहा कि हम भी केंद्र सरकार से इस गेम पर बैन लगाने की मांग करेंगे। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बताया कि पुलिस ने पैरेंट्स के लिए जरूरी अलर्ट जारी किए हैं। बच्चों और माता-पिता को आगाह करने के लिए कैंपेन चलाएंगे। माकपा विधायक राजू इब्राहिम ने बताया कि एक रिपोर्ट के मुताबिक केरल में कम से कम 2000 बच्चे यह खतरनाक गेम डाउनलोड कर चुके हैं।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं