पाकिस्तान की 2000 बड़ी बेवसाइट्स पर लहरा रहा है भारतीय तिरंगा: भारत का पाकिस्तान पर साइबर हमला

Tuesday, August 15, 2017

नई दिल्ली। कुछ समय पहले पाकिस्तानी हैकर्स ने भारत की सरकारी वेबसाइट्स को हैक कर भारत को धमकी दी थी। अब भारत के हैकर्स ने एक साथ पाकिस्तान की 30 सरकारी वेबसाइट्स हैक कर लीं और तिरंगा लहरा दिया। इसके अलावा पाकिस्तान की सबसे ज्यादा लोकप्रिय 2000 वेबसाइट्स को हैक कर लिया गया। वहां अब तिरंगा लहरा रहा है। दोनों देशों में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान हुआ यह अब तक का सबसे बड़ा साइबर हमला है। शायद यह दुनिया का सबसे बड़ा साइबर हमला है। जो वेबसाइट्स हैक हुईं हैं उनमें पाकिस्तान की रक्षा मंत्रालय से लेकर रेलवे जैसी महत्वपूर्ण वेबासइट्स शामिल हैं। हैकर्स का दावा है कि वो आजादी मना रहे हैं और इसलिए पाकिस्तान की वेबसाइट हैक कर रहे हैं। इन वेबसाइट्स को हैक करने की जिम्मेदारी Lulzsec India हैकर ग्रुप ने ली है।

इस हैकिंग के मद्देनजर पाकिस्तानी सरकार ने अपने सर्वर्स को डाउन कर दिया है, ताकि डेटा चोरी न हो सके। लगभग घंटे भर से ज्यादा हैक रहने के बाद पहले तो पाकिस्तानी वेबसाइट्स का सर्वर डाउन किया गया। अब सभी मंत्रालय की वेबसाइट्स को ठीक किया जा रहा है। ये हैं वो वेबसाइट्स जिन्हें हैक किया गया है।

इससे पहले भी आज सुबह खबर मिली थी कि हैकरों के एक ग्रुप ने पाकिस्तान की लगभग 2,000 वेबसाइट्स को हैक कर लिया है। इनमें ज्यादातर वेबसाइट वहां की सरकार से जुड़ी है। इस हैक की जिम्मेदारी  मल्लु साइबर सोलजर्स नाम के हैकर ग्रुप ने ली है। इनका कहना है कि ये इन्होंने पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उन्हें छोटा सा ‘तोहफा’ दिया है। उनके मुताबिक इस हैकिंग के लिए उन्होंने कई तरह के हैकिंग मेथड का इस्तेमाल किया है जिसमें रैंजमवेयर अटैक भी शामिल है।

इस ग्रुप ने अपने पेज पर लिखा है ‘इस बार पाकिस्तान के लिए स्वतंत्रता दिवस यादगार रहेगा, क्योंकि हमने वहां की 2,000 से ज्यादा वेबसाइट्स हैक कर ली हैं। यह दुनिया के इतिहास में ऐसे मौके पर पाकिस्तान को दिया जाने वाला शायद सबसे बेहतरीन गिफ्ट है।’

इस हैकर ग्रुप की आधिकारिक वेबसाइट पर लिखा है कि इन 2,000 वेबसाइट्स में से कई सराकारी वेबसाइट्स भी हैं. इसके पीछे का मकसद उन्हें सबक सिखाना है. हालांकि पहले वो भारत का हिस्सा थे, लेकिन अब वो आतंकी देश हो गए हैं. वो आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं और भारत में अराजकता फैलाते हैं।’

हैकर ग्रुप ने वेबसाइट्स की लिस्ट भी जारी भी की थी, जिसमें 2,000 से ज्यादा लिंक दिए गए हैं. दावा किया गया है कि इनमें से ज्यादातर वेबसाइट A क्लास की हैं। इसमें से 70 वेबसाइट्स को रैन्समवेयर के जरिए हैक किया गया है। यानी अब इसे ठीक करने के लिए पैसे देने होंगे।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week