मलेरिया संविदा कर्मचारियों ने तीसरे दिन प्रदर्शन कर CM HOUSE में सौंपा ज्ञापन

Friday, June 9, 2017

भोपाल। स्वास्थ्य विभाग में दस साल तक कार्य करने के बाद संचालक स्वास्थ्य सेवाओं ने 800 संविदा कर्मचारियों को सेवा समाप्त करने का एक माह का नोटिस जारी करने से बौखलाये मलेरिया संविदा कर्मचारियों ने विगत तीन दिन से राजधानी भोपाल में म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ एवं म.प्र. संविदा एम.पी. डब्ल्यू, मलेरिया ऐसोसियेशन के बैनर तले आंदोलन छेड़ रखा है। आंदोलन के तीसरे दिन मलेरिया संविदा कर्मचारियों ने चिनार पार्क में प्रदर्शन कर संविदा समाप्त करने के नोटिस को वापस लेने के लिए मुख्यमंत्री निवास पर जाकर ज्ञापन सौंपा। 

क्यों कर रहे हैं संविदा मलेरिया कर्मचारी आंदोलन 
म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर एवं म.प्र. संविदा एम.पी. डब्ल्यू, मलेरिया ऐसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा ने कहा संचालक स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत विगत दस वर्षो से कार्य कर रहे 800 संविदा मलेरिया कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने का नोटिस 31 मई 2017 को स्वास्थ्य आयुक्त पल्लवी जैन जारी कर दिया है । जिसके विरोध में संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अधिकारी आंदोलन कर रहे हैं । 

संविदा कर्मचारी क्या काम कर रहे थे
मलेरिया संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी विगत दस सालों से प्रदेश में मच्छरों से होने वाली बीमारियों जैसे मलेरिया, चिकन गुनिया, डंेगु आदि के रोकथाम के लिए कार्य कर रहे थे। दस वर्षो की सेवा करने के बाद अचानक संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को सेवा से हटाने का नोटिस आने के बाद आठ सौ संविदा मलेरिया कर्मचारियों के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया । 

स्वास्थ्य मंत्री रूस्तम सिंह ने नहीं हटाने का दिया था आश्वासन
म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर एवं है कि जब स्वास्थ्य मंत्री रूस्तम सिंह ने किसी भी संविदा कर्मचारियों को नहीं हटाने का निर्णय दिया है तो फिर विभाग संविदा कर्मचारियों को क्यों हटा रही है ।

कर्मचारी नेताओं ने लगाया आरोप 
म.प्र. संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के अध्यक्ष रमेश राठौर तथा म.प्र. संविदा एम.पी. डब्ल्यु मलेरिया एसेासिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों पर भाजपा सरकार को अस्थिर करने का अरोप लगाया है कि अधिकारी ऐसे निर्णय कर रहे हैं जिससे भाजपा सरकार के प्रति आम लोगों में आक्रोश पैदा हो जिससे सरकार अस्थिर हो जाए । महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रमेश राठौर ने कहा है कि संविदा मलेरिया स्वास्थ्य कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त की गई तो पूरे प्रदेश के संविदा कर्मचारी अधिकारी उग्र आंदोलन करेंगें।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week